Monday, 2 January 2023

पिंपरी-चिंचवड के लापता वकील की तेलंगाना बॉर्डर पर मिली लाश

पिंपरी: नूतन वर्ष के आरंभ में ही पिंपरी-चिंचवड (Pimpri-Chinchwad) में सनसनी फैला देनेवाली एक वारदात का खुलासा हुआ है। 31 दिसंबर की दोपहर कालेवाड़ी इलाके से अचानक गायब हुए एक वकील की महाराष्ट्र-तेलंगाना बॉर्डर (Maharashtra-Telangana Border) पर मदनुर में अधजली अवस्था में लाश (Dead Body) मिली है। शिवशंकर शिंदे ऐसा मृत वकील का नाम है। कालेवाड़ी के उनके दफ्तर की अवस्था देखकर कयास लगाए जा रहे हैं कि उन्हें उनके दफ्तर से अगवा कर ले जाकर उनकी हत्या कर दी गई और लाश को तेलंगाना बॉर्डर पर फेंककर जलाने की कोशिश की गई।


पुलिस से मिली प्राथमिक जानकारी के अनुसार, एड. शिवशंकर शिंदे का कालेवाडी परिसर में दफ्तर है। 31 दिसंबर की दोपहर वे अपने दफ्तर से अचानक से गायब हो गए। उनसे संपर्क नहीं हो पाने और उनके घर न लौटने से चिंतित उनके घरवालों ने वाकड पुलिस में उनके गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। अभी पुलिस उनकी खोजबीन में जुटी ही थी कि उनकी हत्या की जानकारी सामने आई है। एड. शिंदे की लाश अधजली अवस्था में महाराष्ट्र-तेलंगाना बॉर्डर पर मदनुर के पास पायी गईं। यह मामला सामने आने के बाद समस्त पिंपरी-चिंचवड शहर में सनसनी फैल गई है।


पुलिस खंगाल रही है सीसीटीवी फुटेज

इस सनसनीखेज का खुलासा होने के बाद वाकड पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीमों ने एड. शिवशंकर शिंदे के दफ्तर का मुआयना किया। वहां पुलिस को शर्ट के टूटे हुए बटन और खून के दाग मिले हैं। इससे शिंदे और आरोपियों के बीच हाथापाई होने का अनुमान लगाया जा रहा है। माना जा रहा है कि शिंदे को उनके दफ्तर से ही अगवा कर लिया गया। बाद में उनकी हत्या कर दी गई और तेलंगाना बॉर्डर पर ले जाकर लाश को जलाकर सबूत मिटाने की कोशिश की गई होगी। वाकड पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीमें सभी पहलुओं से मामले की छानबीन में जुटी हुई है। फिलहाल इलाके में लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.