Wednesday, 21 December 2022

फिल्मी तरीके से सड़क पर मुंबई के एक व्यापारी को पहले तलवार से मारा, फिर गाड़ी में डाल ले गए बदमाश


फिल्मी तरीके से सड़क पर एक व्यापारी की गाड़ी को कुछ लोग टक्कर मारकर रोकते हैं और फिर व्यापारी को गाड़ी से बाहर निकालकर तलवार से कई बार मारते हैं. इसके बाद आरोपी तलवार लहराते और गोलियां दागते हुए व्यापारी को अपनी गाड़ी में डालकर चले जाते हैं. सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि तलवार के हमले में व्यापारी गंभीर रूप से घायल हो गया. घटना के बाद से मुंबई के पास वसई में तनाव फैल गया है. पुलिस ने संदिग्धों की बड़े पैमाने पर तलाश शुरू कर दी.


स्थानीय निवासियों के अनुसार, हमला सूअर के मांस (पोर्क) के व्यापार में शामिल दो समूहों के बीच विवाद का नतीजा हो सकता है. महाराष्ट्र के पालघर जिले में यह घटना हुई है. सीसीटीवी कैमरों में यह हमला कैद हो गया. चौंकाने वाले फुटेज में एक पिक-अप वैन दूसरे को टक्कर मारकर रोकते हुए दिख रही है. एक आदमी को फिर वाहन से बाहर खींच लिया जाता है और तलवार से बार-बार मारा जाता है.


हमलावर तलवार लहराकर और बंदूक लहराकर आसपास के लोगों को डराते हुए दिखाई दे रहे हैं. प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा है कि हमलावरों ने यह सुनिश्चित करने के लिए गोलियां चलाईं कि कोई हस्तक्षेप न करे. जिस शख्स पर हमला किया गया है, उसकी पहचान हरजीत सिंह के रूप में हुई है. प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक मारपीट के बाद हमलावरों ने उसका अपहरण कर लिया. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और हरजीत सिंह और संदिग्धों को ट्रैक करने के लिए कई टीमों का गठन किया है.


हरजीत सिंह के साथ यात्रा कर रहे अन्य दो लोगों पर हमला नहीं किया गया, जैसा कि विजुअल्स में दिख रहा है. पुलिस ने मौके से हरजीत सिंह की गाड़ी और एक तलवार बरामद की है. मौके से मिले विजुअल्स में पुलिस के शीर्ष अधिकारियों को सुराग के लिए घटनास्थल की जांच करते हुए दिखाया गया है. स्थानीय निवासी जयेंद्र पाटिल ने कहा कि हमलावरों ने आसपास खड़े लोगों को हरजीत सिंह को बचाने से रोकने के लिए चेतावनी दी थी. उनमें से एक ने बंदूक निकाली, इसलिए किसी ने हस्तक्षेप करने की हिम्मत नहीं की.उन्होंने कहा कि विवाद सूअर के मांस के व्यापार से जुड़ा हो सकता है. वे सूअर के मांस के व्यापारी हैं. यह हमला उसी से जुड़ा हो सकता है. हमलावरों ने हरजीत सिंह को अपनी पिक-अप वैन में डाल लिया और भाग गए.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.