Friday, 28 October 2022

Maharashtra: जब महाराष्ट्र के कृषि मंत्री सत्तार ने DM से पूछा- 'क्या आप शराब पीते हैं?' वीडियो वायरल

Maharashtra : सोशल मीडिया पर हाल ही में एक वीडियो सामने आया है, जिसमें महाराष्ट्र के कृषि मंत्री अब्दुल सत्तार को बीड के जिला अधिकारी राधाबिनोद शर्मा से कथित तौर पर यह पूछते हुए सुना जा सकता है कि ''क्या वह शराब पीते हैं''. सत्तार ने यह कथित टिप्पणी मध्य महाराष्ट्र के बीड जिले के दौरे के दौरान की थी. जहां वो अक्टूबर में हुए ज्यादा बारिश से फसलों को हुए नुकसान का आकलन करने के लिए पहुंचे हुए थे.


चाय न पीने की बात पर बोलें


कृषि मंत्री अब्दुल सत्तार का ये वीडियो गुरुवार को सामने आया, जिसमें वो जिलाधिकारी शर्मा, जिला के अधिकारियों और कुछ अन्य लोगों के साथ एक हॉल में बैठे नजर आ रहे हैं. वहां सभी को चाय परोसने के दौरान, शर्मा चाय पीने से मना कर देते हैं. तभी, सत्तार को कथित तौर पर जिलाधिकारी से पूछते हुए सुना जा सकता है, ''क्या आप शराब पीते हैं?'' सत्तार के इस सवाल पर वहां पर मौजूद डीएम भी चुप नहीं रह पाते, वो जवाब देते है कि कभी-कभी थोड़ा पी लेते है.


कांग्रेस के नेता ने उठाए सवाल


जब से ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, उसके बाद से महाराष्ट्र के किसानों का भी गुस्सा सामने नजर आ रहा है. इसके आलावा महाराष्ट्र  कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता सचिन सावंत ने भी अब्दुल सत्तार को निशाने पर लेते हुए ट्वीट किया उन्होंने लिखा कि भारी बारिश का मुआयना कर रहे है या शराब की भठ्ठी का. इसके साथ ही सचिन सावंत ने एक कविता भी ट्वीट किया है.


अतिवृष्टी पाहणी दौरा कि मद्यसृष्टी पाहणी दौरा?

गम का दौर हो या हो खुशी, समा बाँधती है शराब

किसान मरे या करे खुदकुशी, समा बाँधती है शराब

एक मशवरा है जनाब के थोड़ी-थोड़ी पिया करो

हुई महँगी बहोत ही शराब, के थोड़ी-थोड़ी पिया करो 🤔 


पहले भी दे चुके है विवादित बयान


अब्दुल सत्तार उद्धव ठाकरे की सरकार में मंत्री भी रह चुके थे. सत्तार शिवसेना के उन बागी नेताओं में शामिल हैं जो शिंदे कैंप के साथ बाद में जुड़ गए. उद्धव सरकार में मंत्री रहते हुए उनका एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें वो कथित तौर पर हनुमान जी के लिए अपमानजनक शब्दों का प्रयोग कर रहे हैं. उनके वीडियो को भाजपा ने भी अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया था.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.