Tuesday, 5 July 2022

Mumbai : सायन में ट्रैक पर भरा पानी, हार्बर और सेंट्रल लाइन पर देरी से चल रही हैं लोकल ट्रेनें

Mumbai : मुम्बई में लगातार हो रही भारी बारिश (Heavy Rain) के कारण जनजीवन प्रभावित हो गया है एक तरफ सड़कों पर भारी जलजमाव (Water Logging) हो गया तो दूसरी तरफ मुम्बई की लाइफ लाइन कही जानेवाली लोकल ट्रेनों (Local Trains) का परिचालन भी प्रभावित हुआ है। हार्बर और सेंट्रल लाइन की ट्रेनें 15 से 20 मिनट देरी से चल रही हैं। मुम्बई के सेंट्रल लाइन के सायन स्टेशन पर ट्रैक पर 2 ईंच तक पानी भर गया है। रेलवे ट्रैक पानी में डूबने से ट्रेनों की आवाजाही में देरी हो रही है। यहां तकरीबन 15 से 20 मिनट की देरी से ट्रेनें चल रही हैं। लोकल ट्रेनों में देर से लोग परेशान हैं वहीं प्लेटफॉर्म लोगों की भीड़ बढ़ती जा रही है।


अगले 24 घंटे तेज बारिश

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे तेज बारिश का पूर्वानुमान जताया है। मुंबई में बारिश के स्थति को देखते हुए मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे बीएमसी के डिजाजस्टर कंट्रोल रूम का जायजा लेंगे। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने राज्य प्रशासन के अधिकारियों को एहतियात बरतने और यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि जानमाल का कोई नुकसान न हो। 


बारिश से बाढ़ जैसे हालात

मुंबई और उसके कुछ पड़ोसी जिलों में मंगलवार सुबह भारी बारिश हुई और कुछ स्थानों पर बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो गई। आईएमडी ने दक्षिण कोंकण क्षेत्र और गोवा के लिए ‘ऑरेंज अलर्ट’ और उत्तरी कोंकण, उत्तर मध्य एवं दक्षिण मध्य महाराष्ट्र तथा मराठवाड़ा क्षेत्रों के लिए ‘येलो अलर्ट’ जारी किया है।आईएमडी के अनुसार, मराठवाड़ा क्षेत्र में आंधी, बिजली कड़कने, भारी बारिश के साथ 40 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने के आसार हैं। 


एनडीआरएफ अलर्ट, मुंबई पर करीबी नजर

मुख्यमंत्री कार्यालय ने एक बयान में कहा कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ठाणे, रायगढ़, पालघर, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग जिलों के कलेक्टर के साथ सम्पर्क में हैं। एनडीआरएफ से तैयार रहने को कहा गया है। बयान में कहा गया, ‘मुंबई की स्थिति पर भी करीबी नजर रखी जा रही है।’ रायगढ़ जिले में कुंडलिका नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। अंबा, सावित्री, पातालगंगा, उल्हास और गढ़ी नदियों का जलस्तर खतरे के निशान से थोड़ा नीचे है। 


जिला कलेक्टरों से लगातार संपर्क में हैं सीएम 

मुख्यमंत्री शिंदे ने मुख्य सचिव मनु कुमार श्रीवास्तव के साथ बातचीत की। जिलों के प्रभारी (गार्जियन) सचिवों को अपने जिलों में पहुंचने और स्थिति पर नजर रखने के लिए कहा गया है। बयान में कहा गया, ‘‘ भारी बारिश और बाढ़ जैसी स्थिति को देखते हुए यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है कि किसी प्रकार की जानमाल की हानि न हो। मुख्यमंत्री कोंकण क्षेत्र के सभी जिला कलेक्टर के साथ सम्पर्क में हैं।’’ बयान के अनुसार, जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को भारी बारिश के मद्देनजर सतर्क रहने और एहतियात बरतने को कहा गया है। ठाणे, पालघर, रायगढ़, सिंधुदुर्ग, रत्नागिरी और कोल्हापुर जहां तेज बारिश हो रही है लोगों को बाढ़ आने के खतरे को लेकर आगाह कर दिया गया है।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.