Monday, 21 November 2022

मुंबई में बिजली बिल के नाम पल फर्जीवाड़ा करने वाले साइबर ठग रांची से गिरफ्तार

रांची:  मुंबई पुलिस की सूचना पर रांची पुलिस ने दो साइबर अपराधियों को गिरफ्तार किया है. दरअसल मुंबई में इलेक्ट्रिसिटी बिल के नाम पर फर्जीवाड़ा करने वाले गिरोह का तार रांची से जुड़ा मिला, जिसके बाद गिरफ्तार साइबर अपराधियों के पास से 5 एंड्राइड मोबाइल, एक कीपैड मोबाइल और पांच सिम कार्ड बरामद हुए हैं. झारखंड के जामताड़ा और देवघर इलाके के रहने वाले दो शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.


बिजली बिल के नाम पर ठगी की वारदात को अंजाम देने वाले दो आरोपी रांची पुलिस के हत्थे चढ़े है. आरोपी बड़े ही शातिराना अंदाज में न सिर्फ रांची के लोगों को चूना लगाते थे बल्कि, जामताड़ा और देवघर के ये शातिर साइबर अपराधी मुंबई के लोगों को भी अपना शिकार बना चुके थे. जिसके बाद, रांची पुलिस से मुंबई पुलिस ने संपर्क साधा फिर जामताड़ा और देवघर के इन शातिर अपराधियों को रांची पुलिस ने धर दबोचा.


हालांकि, इनका एक साथी जो इनके साथ था वो पुलिस के आने से पहले ही फरार हो गया था. रांची में रह कर ये साइबर अपराधी लोगों को मैसेज के माध्यम से अपने झांसे में लेते थे. रांची के साथ ये मैसेज मुंबई भी भेजे गए थे. इसे लेकर यह जानकारी सामने आई है कि मुंबई के बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स में रहने वाले व्यक्ति के साथ ठगी हुई थी जिसे लेकर मुंबई पुलिस को शिकायत मिली थी. दरअसल ये साइबर अपराधी मैसेज भेज लोगों के साथ ठगी किया करते थे इनके द्वारा भेजे गए मैसेज मे लिखा होता था कि आपकी बिजली कट जाएगी और बिजली न कटे इसके लिए लोगों से पैसे की डिमांड की जाती थी और एक बैंक अकाउंट नंबर भी मैसेज के जरिए भेजा जाता था बिजली न कटे इसे लेकर लोग उस अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर दिया करते थे और इसके जरिए इन साइबर अपराधियों ने कई लोगों को अपने जाल में फांस कर उन्हें अपना शिकार बनाते थे.


गिरफ्तार आरोपियों में जामताड़ा जिले के करमाटांड़ थाना क्षेत्र का सचिन कुमार मंडल और देवघर जिले के मार्गोमुंडा थाना क्षेत्र का संजीत कुमार मंडल का नाम शामिल है. घटना में संलिप्त एक आरोपी उमेश साहू फरार है. घटना की जानकारी देते हुए रांची के ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने बताया कि साइबर सेल रांची पुलिस को मुंबई पुलिस से यह सूचना मिली थी कि अज्ञात साइबर अपराधियों के द्वारा विभिन्न राज्यों में बिजली बिल संबंधी मैसेज के माध्यम से धोखाधड़ी करके पैसों की ठगी की जा रही है, सूचना के बाद साइबर सेल के डीएसपी के नेतृत्व में और रातू थाना के साथ नगड़ी पुलिस के द्वारा संयुक्त टीम ने कार्रवाई करते हुए 2 साइबर अपराधी को घटना में प्रयुक्त मोबाइल और सिम कार्ड के साथ गिरफ्तार किया गया.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.