Friday, 25 November 2022

फरीदाबाद के जंगल से मुंबई के समंदर तक, आफताब के गुनाहों का सबूत ऐसे जुटा रही दिल्ली पुलिस

श्रद्धा वॉल्कर हत्याकांड मामले में दिल्ली पुलिस जंगल से लेकर समुद्र की खाड़ी में आरोपी आफताब के खिलाफ सबूत इकठ्ठा करने में जुटी है. ताजा अपडेट के मुताबिक, मुंबई से सटे भाइन्दर समुद्री खाड़ी में पुलिस की टीम सबूत तलाश रही है. पुलिस को शक है कि आफताब ने लोकल ट्रेन से यात्रा के दौरान रेलवे ब्रिज से श्रद्धा का मोबाइल खाड़ी में फेंका है. 


दिल्ली पुलिस की टीम लोकल पुलिस समेत मछुआरों के साथ मिलकर मुंबई में श्रद्धा के मोबाइल की तलाश कर रही है. पुलिस का मानना है कि अगर श्रद्धा का मोबाइल हाथ लग जाए तो आरोपी के खिलाफ और कई सबूत मिल सकते हैं. वहीं, आफताब का आज पॉलीग्राफ टेस्ट के पूरे होने की संभावना है. बीते दिन 24 अप्रैल को पॉलीग्राफ टेस्ट के दौरान आफताब को बुखार आ गया था जिस कारण प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी थी. अब तक के पॉलीग्राफ टेस्ट में केस से जुड़ी कई अहम जानकारियां हाथ लगी हैं जो इस मामले को सुलझाने में काफी मददगार साबित हो सकती हैं. 


फरीदाबाद में मिला बॉडी पार्टी


फरीदाबाद पुलिस को गुरुवार दोपहर 2 बजे सूरजकुंड इलाके में सूटकेस में एक बॉडी का पार्ट (धड़) मिला था जो देखने में काफी पुरानी लग रहा था. पुलिस को इसमें कुछ कपड़ा भी मिला है. फरीदाबाद पुलिस ने इसकी जानकारी दिल्ली पुलिस को दी जिसके बाद श्रद्धा हत्याकांड की जांच कर रहे साउथ जिले के एसीपी महरौली मौके पर टीम के साथ पहुंचे. बॉडी पार्ट को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है. फरीदाबाद पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम के दौरान सैंपल लेकर रख दिए जाएंगे अगर दिल्ली पुलिस श्रद्धा मामले में DNA करना चाहती है तो करवा सकती है.


अस्पताल में एडमिट हूं- श्रद्धा


इस पूरे हत्याकांड मामले में अब श्रद्धा वॉल्कर की एक और व्हाट्सएप चैट सामने आयी है जिसमें वो अस्पताल में भर्ती होने की जानकारी अपने दोस्त को दे रही हैं. श्रद्धा ने दोस्त को बताया कि वो अस्पताल में एडमिट हैं और वो जल्द उन्हें संबंधित दस्तवाजे भेंजेंगी. इसी के साथ उन्होंने अपने दोस्त को अस्पताल से कुछ तस्वीरें भी भेजीं हैं.


 शव के टुकड़ों को ठिकाने से पहले ऑफ कर देता था मोबाइल की लोकेशन- पुलिस सूत्र


दिल्ली पुलिस ने आफताब के किराए वाले घर से पांच बड़े चाकू भी बरामद किए हैं जिन्हें फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है. पुलिस को शक है कि आफताब ने इन्हीं चाकूओं से श्रद्धा के शरीर के टुकड़े किए थे. मामले पर दिल्ली पुलिस के सूत्रों ने बताया कि जांच में इस बात की पुष्टि हुई है कि आफताब ने श्रद्धा के शरीर के टुकड़ों को ठिकाने लगाने के लिए सोच समझकर प्लान बनाया था. सूत्र आगे बोले कि आफताब जब शरीर के टुकड़ों को ठिकाने लगाने जाता था तो वो ना केवल अपने मोबाइल की लोकेशन को ऑफ कर देता था बल्कि फोन को किराए के घर में ही छोड़ देता था. आफताब इस बात का भी पूरा ध्यान रखता था कि कोई इलेक्ट्रॉनिक सबूत या निशान पीछे ना छूटे. 

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.