Friday, 4 November 2022

के ई एम का नर्सेस हॉस्टेल का स्लैब गिरा


मुंबई: मुंबई के ई एम अस्पताल के नर्सेस हॉस्टल में गुरुवार की सुबह लगभग 9 बजकर 30 मिनट पर इमारत का स्लैब गिर (slab dropped) गया। इस दुर्घटना में नर्स की पढ़ाई कर रही लड़कियों का खाना बनाने वाली एक महिला गंभीर रूप से जख्मी हो गई। नर्सेस हॉस्टल की अवस्था विकट होने के कारण नर्स की पढ़ाई कर रही लड़कियों को दूसरी जगह  स्थानांतरित किया जाएगा। स्लैब गिरने की घटना से नर्स की पढ़ाई कर रही लड़कियों और के ई एम में कार्यरत नर्स में गबराहट का माहौल बन गया था।


बता दे की के ई एम अस्पताल के पीछे 300 नर्स का हॉस्टल बना हुआ है।यह हॉस्टल इमारत 1926 में बनी हुई है।  लगभग 100 साल पुरानी हो चुकी इमारत की अवस्था विकट बनी हुई है। नर्स हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों का कहना है कि स्लैब गिरने की  यह कोई  नई घटना नही है।अपनी जान हथेली पर रखकर वह अपनी पढ़ाई कर रही है।स्लैब के साथ साथ कई बार ऊपर लटके पंखे तक गिरे है। लेकिन सुदैव से कोई दुर्घटना नही घटी।  गुरुवार को स्लैब गिरने की घटना में लड़कियों का खाना बनाने वाली महिला संगीता चव्हाण 40 साल गंभीर जख्मी हुई है उसके सिर पर गंभीर चोट आई है। ईलाज के लिए के ई एम अस्पताल में भर्ती कराया गया है  ।इमारत में स्लैब गिरने की घटना के बाद स्थानीय पूर्व  नगरसेवक अनिल कोकिल घटना स्थल का दौरा किया।इमारत की खस्ता हाल देखकर पढ़ने वाली लड़कियों को दूसरे स्थान पर हटाने की मांग केईएम की प्रभारी डीन डॉ  पाठक (Dean Dr. Pathak) ने कहा की लड़कियों को रहने की दूसरी व्यवस्था की जा रही है।


स्ट्रक्चरल ऑडिट कर मरम्मत कार्य शुरू

इस हॉस्टल की इमारत का स्ट्रक्चरल ऑडिट किया गया था जिसमे इमारत को सी 2 घोषित किया गया है जिसके अनुसार इमारत की मरम्मत करना अतियावशायक है।इमारत का मरम्मत कार्य शुरू किया गया है।इस तरह की जानकारी अस्पताल की प्रभारी डीन डॉ पाठक ने दी।उन्होंने कहा कि जिस स्थान पर स्लैब गिरा है इस परिसर का तत्काल मरम्मत कार्य किया जाएगा।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.