Tuesday, 22 November 2022

राजभवन बना BJP हैडक्वार्टर, लेकिन 2 महीने में गिरेगी शिंदे सरकार- राउत का दावा


महाराष्ट्र में शिंदे-फडणवीस की सरकार दो महीने में गिर जाएगी. दो महीने के भीतर मध्यावधि चुनाव होने जा रहे हैं. शिवसेना उद्धव बालासाहेब ठाकरे गुट के सांसद संजय राउत ने आज (22 नवंबर, मंगलवार) सुबह दिल्ली में मीडिया से बातचीत करते हुए यह कहा. पत्राचॉल घोटाला मामले में जमानत मिलने के बाद राउत पहली बार दिल्ली पहुंचे. दिल्ली पहुंचते ही कहा कि वे मुंबई लौट कर राज्य के उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से मुलाकात करेंगे. उन्होंने कहा कि फडणवीस फिलहाल गुजरात चुनाव में व्यस्त हैं. जब वे मुंबई लौटेंगे तो उनसे मुलाकात करूंगा.


संजय राउत ने फडणवीस से मुलाकात की वजह बताते हुए कहा कि, ‘जेल में रहते हुए मुझे जेल प्रशासन से संबंधित कर्मचारियों और व्यवस्था से संबंधित कई ऐसी समस्याएं पता चलीं, जो ना सिर्फ महाराष्ट्र बल्कि पूरे देश के लिए अहम है. वे राज्य के गृहमंत्री हैं. उन्हें यह पता होना चाहिए. मैं उनसे छुप कर नहीं मिलूंगा. वे विरोधी पार्टी में हैं फिर भी हम दूसरे के दुश्मन नहीं हैं. मैं सांसद हूं. इस नाते मैं कभी भी उनसे मिल सकता हूं.’


‘कभी किसी राज्य में राज्यपाल के खिलाफ इतना गुस्सा नहीं देखा गया’

राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी द्वारा छत्रपति शिवाजी महाराज पर दिए गए यह बयान , शिवाजी महाराज तो पुराने आदर्श हैं, आज के आदर्श गडकरी हैं, पर राज्य भर में विवाद बढ़ने के बाद आज संजय राउत ने राज्यपाल और बीजेपी पर भी टिप्पणी की. उन्होंने कहा, ‘पहले कभी किसी राज्य में राज्यपाल के खिलाफ इतना गुस्सा नहीं रहा. लोग उनके खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे हैं. महाराष्ट्र में राज्यपाल के पद की गरिमा खत्म हो गई है क्योंकि बीजेपी ने राज भवन को पार्टी हेड क्वार्टर बना लिया है.’


दो महीने में महाराष्ट्र में होने जा रहा मध्यावधि चुनाव

संजय राउत ने दावा किया कि दो महीने में शिंदे-फडणवीस सरकार गिर जाएगी और मध्यावधि चुनाव होना तय है. खुद बीजेपी के केंद्रीय मंत्री राव साहेब दानवे ने कहा है कि राज्य की स्थिति पूरी तरह से असमंजस में है, कब क्या होगा, पता नहीं. उन्होंने यह बयान औरंगाबाद जिले के कन्नड तालुका के सिरजगाव में दिया. उन्होंने कहा,’ महाविकास आघाड़ी सरकार जाएगी, यह किसी को नहीं लगता था. लेकिन ऐसा जादू हुआ कि ढाई साल बाद सरकार गिर गई. आगे की राजनीतिक स्थिति के बारे में भी कुछ कहना मुश्किल है. कब क्या हो जाए कोई नहीं अंदाज लगा सकता.’


राव साहेब दानवे के इसी बयान के बाद राउत ने कहा कि दानवे का कभी-कभी स्लिप ऑफ टंग होता है, तो सही बात सामने आ जाती है. लेकिन बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष चंद्रशेखर बावनकुले ने कहा कि राज्य सरकार ना सिर्फ स्थिर रहेगी बल्कि इसका विस्तार भी होगा. और भी 20-25 विधायक हमारे संपर्क में हैं. इसलिए मध्यवाधि चुनाव के चक्कर में ना पड़ें. 2024 के चुनाव में इस बात की चिंता करें कि आपके ठाकरे गुट को और कांग्रेस-एनसीपी को उम्मीदवार भी मिलेगा क्या? इसी तरह सांसद प्रताप राव जाधव ने भी दावा किया कि ठाकरे गुट के 3 और सांसद और 8 और विधायक शिंदे गुट में शामिल होने वाले हैं.


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.