Friday, 18 November 2022

महाराष्ट्र की सरकार तो नहीं बचा पाए, अब सावरकर पर बोल गुजरात में भी पार्टी का नुकसान करा रहे राहुल

मुंबई: एक तरफ देश में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की भारत जोड़ो यात्रा चल रही है। दूसरी तरफ गुजरात (Gujrat) और हिमाचल प्रदेश में चुनावी माहौल है। ऐसे में राहुल गांधी का वीर सावरकर (Veer Savarkar) को लेकर दिया बयान गुजरात और हिमाचल के चुनाव में कांग्रेस पार्टी की हालत खराब कर सकता है। राहुल गांधी का यह बयान महाराष्ट्र (Maharashtra) में उनके सहयोगी दल उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की शिवसेना के लिए गले की हड्डी बन चुका है। जिसे न तो उद्धव ठाकरे उगल पा रहे हैं और न ही निगल पा रहे हैं। सियासी नफा-नुकसान का आंकलन करते हुए उद्धव ठाकरे ने खुद को और पार्टी को राहुल गांधी के इस बयान से अलग कर लिया है। वहीं शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने कहा है कि जब महाराष्ट्र में भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) को अच्छा प्रतिसाद मिल रहा था तो राहुल गांधी को इस तरह का विवादित बयान देने की क्या आवश्यकता थी। सूत्रों की माने तो इस मुद्दे पर शिवसेना (Shivsena) ने अपने सभी प्रवक्ताओं को बोलने से मना किया है। कुछ महीनों पहले तक महाराष्ट्र में चल रही महाविकास अघाड़ी सरकार (Mahavikas Aghadi Government) को तो राहुल गांधी बचा नहीं पाए।


अब सावरकर पर बोलकर गुजरात में भी पार्टी का बंटाधार कर रहे हैं। शिवसेना के एक वरिष्ठ नेता ने नाम न लिखने की शर्त पर कहा कि यह सब जानते हैं कि गुजरात में कांग्रेस पार्टी की लड़ाई पहली पोजीशन के लिए नहीं बल्कि दूसरी और तीसरी पोजीशन के लिए चल रही है। बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (Congress) के बीच में होने वाली टक्कर में अब आम आदमी पार्टी के अरविंद केजरीवाल भी कूद पड़े हैं। ऐसे में मुकाबला त्रिकोणीय हो चुका है। गुुजरात के गंभीर सियासी हालातों के बार भी राहुल गांधी ने यह बयान देकर पार्टी नेताओं के लिए मुसीबत पार्टी के लिए मुसीबत मोल ले ली है। शिवसेना की तरह एनसीपी (NCP) के प्रवक्ता भी राहुल गांधी के साल पर जवाब देने से बचते हुए नजर आ रहे हैं।


महाराष्ट्र में बीजेपी के निशाने पर राहुल गांधी

इस मुद्दे पर महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राहुल गांधी की आलोचना करते हुए कहा था कि वह स्वतंत्रता सेनानी के बारे में पूरी तरह झूठ बोल रहे हैं। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने राहुल को चेतावनी देते हुए कहा कि वीर सावरकर के अपमान को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। महाराष्ट्र के लोग हिंदू विचार के किसी भी शख्स का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे।


क्या बोले थे राहुल गांधी?

दरअसल राहुल गांधी ने महाराष्ट्र में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान मंगलवार को वाशिम जिले में विनायक दामोदर सावरकर पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने सावरकर की चिट्ठी पढ़ते हुए कहा कि उन्होंने अंग्रेजों की मदद की थी और कारागार में रहने के दौरान उन्होंने माफीनामे पर हस्ताक्षर करके महात्मा गांधी और अन्य समकालीन भारतीय नेताओं को धोखा दिया था। राहुल गांधी ने विनायक सावरकर के ‘माफीनामे’ की एक प्रति दिखाते हुए निशाना साधा।


उन्होंने दावा किया, ‘सावरकर जी ने अंग्रेजों की मदद की। उन्होंने अंग्रेजों को चिट्ठी लिखकर कहा - सर, मैं आपका नौकर रहना चाहता हूं।’ राहुल गांधी ने यह भी कहा, ‘जब सावरकर जी ने माफीनामे पर हस्ताक्षर किए तो उसका कारण डर था। अगर वह डरते नहीं तो वह कभी हस्ताक्षर नहीं करते। इससे उन्होंने महात्मा गांधी और उस वक्त के नेताओं के साथ धोखा किया।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.