Thursday, 3 November 2022

मुंबई के घाटकोपर में मॉल के अंदर हुआ बड़ा हादसा, स्लाइड से गिरने से छोटी बच्ची की गई जान


मुंबई: मुंबई के घाटकोपर के नीलयोग मॉल में रविवार को हुए भीषण हादसे में साढ़े तीन साल की बच्ची की मौत हो गई थी। यह हादसा किड्स जोन में हुआ। पुलिस ने बताया कि बच्ची के परिवार ने औपचारिक शिकायत नहीं की थी, इसलिए स्थानीय पंत नगर पुलिस ने मामले में आकस्मिक मौत की रिपोर्ट दर्ज की है।


बच्ची की मौत बनी हुई है रहस्य

30 अक्टूबर की शाम फाइनेंस कंपनी में कार्यरत करण वर्मा और उनकी पत्नी परमवीर कौर सभी तिलक नगर निवासी अपनी साढ़े तीन साल की बेटी दलीश को लेकर नीलयोग मॉल गए थे। वे मॉल के 5वीं मंजिल के किड्स जोन में गए थे। स्लाइड पर खेलते समय दलीश ऊपर गया और फिसलता हुआ आया, लेकिन नीचे आते ही उसे चक्कर आने लगे और जब तक उसकी मां उसे किड्स जोन से बाहर ले गई तब तक वह गिर पड़ी।


अस्पताल पहुंचे से पहले गई जान

माता-पिता उसकी बेटी को फोर्टिस अस्पताल मुलुंड ले गए, जहां पहुंचने पर उसे मृत घोषित कर दिया गया। इस घटना की जानकरी अस्पताल ने पंत नगर पुलिस को दी क्योंकि घटना उनके अधिकार क्षेत्र में हुई थी, लेकिन चूंकि माता-पिता ने किसी के खिलाफ कोई शिकायत नहीं की थी, इसलिए कोई अपराध दर्ज नहीं किया गया था। पंत नगर पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ निरीक्षक रविदत्त सावंत ने कहा, 'माता-पिता ने हमें बताया कि उन्हें किसी के खिलाफ कोई शिकायत नहीं है, अभी हमने दुर्घटना में मौत की रिपोर्ट दर्ज की है।'


राजावाड़ी अस्पताल में पोस्टमार्टम किया

राजावाड़ी अस्पताल में पोस्टमार्टम में मौत के पीछे कोई प्राथमिक कारण सामने नहीं आया है और बच्ची की मौत एक रहस्य बनी हुई है। डॉक्टरों ने मौत का कारण सुरक्षित रखा है और विसरा और रक्त के नमूने आगे के विश्लेषण के लिए हिस्टोपैथोलॉजी विभाग को भेजे गए हैं। पुलिस विश्लेषण के अनुसार, नीचे खिसकते समय लड़की का सिर ढलान से टकरा गया होगा, जिससे आंतरिक रक्तस्राव और मौत हो सकती है।


किड्स जोन में मौजूद एक अटेंडेंट ने बताया

वहीं रविवार को किड्स जोन में मौजूद एक अटेंडेंट ने बताया, ';मैं जोन के अंदर किड्स की मदद कर रहा था, अचानक मैंने एक लड़की को गिरते हुए देखा, उसकी मां ने उसे जगाने की कोशिश की, लेकिन जब वह नहीं उठी तो वे उसे बाहर ले गए। कल हमें पता चला कि वह मर चुकी है। हर दिन हम यहां सैकड़ों बच्चों को खेलते देखते हैं, लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है।'

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.