Thursday, 17 November 2022

70 साल के आदमी ने 19 साल की लड़की से की लव मैरिज, लड़की बोली-मोहब्बत हो जाती है


भारत का पड़ोसी देश पाकिस्तान सीमा पर आए दिन अपनी नापाक हरकतों के अलावा देश के अंदर होने वाले अजीबोगरीब कारनामों के कारण चर्चा में बना रहता है. जिसे देख और सुन हर किसी को काफी हैरत होती है. पाकिस्तान के आधे से ज्यादा कारनामें वहां रहने वाली जनता ही करते देखी जाती है. इन दिनों पाकिस्तान की शादियां सोशल मीडिया पर हर किसी का ध्यान उनकी ओर खींच रही हैं.


पाकिस्तान में एक से ज्यादा शादी करना कोई नई बात नहीं है. एक ओर जहां शादी से पहले दूल्हा और दुल्हन की उम्र में ज्यादा गैप नहीं रखा जाता है. वहीं पाकिस्तान में इस बात को ही दरकिनार कर दिया जाता है. हाल ही में पाकिस्तान में एक 70 साल के बुजुर्ग ने 51 साल छोटी एक लड़की से शादी की है. जो इन दिनों चर्चा के केंद्र बन गई हैं.


जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि 19 वर्षीय शुमाइला से 70 साल के लियाकत अली ने निकाह किया है. इससे भी हैरानी की बात यह है कि यह एक लव मैरिज है. जानकारी के अनुसार लाहौर में दोनों की पहली मुलाकात हुई थी. जहां शुमाइला ने पहली नजर में लियाकत अली को अपना दिल दे दिया. शुमाइला का कहना है कि प्यार कभी भी उम्र जैसी बंदिशों को नहीं देखता है.


आशिक मिजाज लियाकत अली

अपनी शादी से सभी को हैरान कर रहे लियाकत अली का कहना है कि उन्होंने आते जाते शुमाइला को देखा था. इसके बाद एक दिन वह उन्हें देख गाना ​गुनगुनाने लगे. जिसके बाद शुमाइला ने उन्हें पलटकर देख लिया और देखते ही देखते वह शुमाइला की मोहब्बत में बह गए. 


परिजनों को था ऐतराज

उनके अनुसार परिवार वाले पहले उनके रिश्ते के लिए तैयार नहीं थे. उनके परिजन इस रिश्ते को लेकर ऐतराज कर रहे थे. वहीं समय के साथ वह मान गए. शुमाइला का कहना है कि शादी में सबसे जरूरी बात इज्जत और मर्यादा होती है. उनका कहना है कि बुरे इंसान से रिश्ता रखने से लाख गुना अच्छा है सही इंसान को चुनना. 


पहले भी हुई शादियां

बता दें कि पाकिस्तान में यह इस तरह का पहला मामला नहीं है. इससे पहले पाकिस्तान के सांसद और टीवी एंकर रहे आमिर लियाकत हुसैन (Aamir Liaquat Hussain) ने भी 18 साल की सईदा दानिया शाह से शादी की थी. उस वक्त आमिर लियाकत हुसैन 49 साल के थे. हालांकी उनका यह रिश्ता लंबे समय तक नहीं चल सका और 3 महीने में ही उनका तलाक हो गया था.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.