Thursday, 20 October 2022

पालघर में एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे की सेना आपस में भिड़ी, आधी रात को पुलिस ने दर्ज किया केस


Maharashtra: महाराष्ट्र (Maharashtra) में जब से शिवसेना (Shiv Sena) में फूट हुई है, तब से ही एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) और उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) गुट के समर्थक आपसे में भिड़ते नजर आ रहे हैं. अब पालघर (Palghar) में एक बार फिर उद्धव और शिंदे की सेना आपस में भिड़ गई. ये भिड़ंत शिवसेना की शाखा पर कब्जे को लेकर हुई. मामला इतना बढ़ गया कि बात पुलिस (Police) तक पहुंच गई और 11 लोगों पर केस दर्ज हो गया.


पालघर जिले के बोईसर इलाके में शिवसेना की एक शाखा है. इस शाखा पर कब्जे को लेकर एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे के शिवसैनिक आपस में भिड़ते नजर आए. स्थानीय नेता और कार्यकर्ता एक दूसरे पर हमला करते नजर आए. इस दौरान उद्धव गुट और शिंदे गुट के सैकड़ों लोग शिवसेना की शाखा के साथ-साथ पुलिस थाने में भी इकट्ठा हो गए. इसके बाद माहौल तनावपूर्ण हो गया.


शिंदे गुट के कार्यकर्ता उद्धव गुट पर केस दर्ज कराने पर अड़े


आधी रात तक चले इस ड्रामे में एकनाथ शिंदे गुट के समर्थक उद्धव गुट के लोगों पर मामला दर्ज कराने पर अड़े रहे. कई स्थानीय नेताओं की मांग थी कि उद्धव की सेना के खिलाफ गंभीर धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जाए. बोईसर पुलिस थाने में दोनों ही गुट के समर्थक देर रात तक इकट्ठे रहे. इसके बाद उद्धव ठाकरे के गुट के 11 लोगों पर विभिन्न धाराओं के तहत के तहत केस दर्ज हुआ.


मशाल यात्रा में भी आपस में भिड़े शिवसैनिक


चुनाव चिन्ह को लेकर चुनाव आयोग से लेकर कोर्ट तक चली लड़ाई के बाद जब दोनों गुटों को नाम और चिन्ह आवंटित कर दिए गए, तब भी दोनों गुटों के कार्यकर्ता आपस में भिड़ते हुए दिखे थे. पुणे के सिंचर में नए चुनाव चिन्ह मशाल को लेकर एक शोभायात्रा निकाली गई, लेकिन इस शोभा यात्रा में पार्टी के कार्यकर्ता आपस में ही भिड़ते नजर आए और हाथापाई तक नौबत आ गई. जानकारी के लिए बता दें कि मशाल चुनाव चिन्ह उद्धव ठाकरे और दो तलवार और एक ढाल चुनाव चिन्ह एकनाथ शिंदे की सेना को मिला है.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.