Friday, 14 October 2022

महाराष्ट्र के अमरावती में 'सर तन से जुदा' जैसे नारे लगाने का आरोप, गृह मंत्रालय ने दिए जांच के आदेश


Amravati: महाराष्ट्र के अमरावती में एक जुलूस के दौरान अपत्तिजनक नारे लगाए गए हैं. जानकारी के मुताबिक अमरावती के ग्रमीण इलाके में ईद मिलाद-उन-नबी के मौके पर जुलूस निकाला जा रहा था. इस जुलूस में ही कुछ असमाजिक तत्वों ने सर तन से जुदा करने वाले नारे लगाए. अब सर तन से जुदा करने वाले नारे को महाराष्ट्र सरकार ने गंभीरता से लिया है.


महाराष्ट्र सरकार के गृह मंत्रालय ने अमरावती में लगाए गए नारे पर जांच के आदेश दे दिए हैं. मामला 3 दिन पहले का बताया जा रहा है. इस मामले में मंगलवार को दो लोगों को गिरफ्तार किया गया था. इसके साथ ही घटना को लेकर पुलिस ने 8 से 10 अज्ञात लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज की है. बता दें कि ईद मिलाद-उन-नबी प्रोफेट मोहम्मद की जयंती के रूप में मनाया जाता है. 


कब लगे भड़काउ नारे?

राजस्थान के जोधपुर के पीपाड़ में 10 अक्टूबर को बारावफात पैगंबर मोहम्मद के जन्मदिन पर धार्मिक जुलूस में कथित तौर पर 'सर तन से जुदा' के नारे लगाने का वीडियो सामने आया था. यह वीडियो शेयर होते ही पुलिस अलर्ट हो गई. मामले को गंभीरता से लेते हुए एक आरोपी को गिरफ्तार किया था. वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि माहौल बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है. 


वहीं, बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा के पैंगबर मोहम्मद पर की गई विवादित टिप्पणी के बाद पूरे देश में हंगामा हो गया था. इसी को देखते हुए 12 अगस्त को मध्य प्रदेश के खंडवा में निकाले गए मुहर्रम के जुलूस के दौरान जब ताजियों को विसर्जन करने के लिए ले जाया जा रहा था, तब कथित तौर पर 'सर तन से जुदा' के नारे लगाए गए. भीड़ में बुजुर्ग के साथ-साथ युवा भी शामिल थे. जलेबी चौक के पास जुलूस में मौजूद भीड़ ने कथित तौर पर 'सर तन से जुदा-सर तन से जुदा' के नारे लगाए, जिस समय यह नारे लगाए जा रहे थे, तब कई पुलिसकर्मी मौके पर मौजूद थे.


अमरावती पुलिस ने परतवाड़ा पुलिस स्टेशन में धारा 153 A (धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास के आधार पर आपस में दुश्मनी को बढ़ावा देना) 505 (2) के अंतर्गत केस दर्ज किया है. इसके साथ ही आरोपियों पर भारतीय दंड संहिता और बॉम्बे पुलिस अधिनियम 135 की धारा (2) भी लगाई गई है. 


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.