Wednesday, 19 October 2022

गाजियाबाद में निर्भया जैसा कांड:भाई के बर्थडे से लौट रही नर्स को अगवाकर 2 दिन गैंगरेप; जब मिली तब शरीर में रॉड थी


गाजियाबाद में दिल्ली की एक महिला से निर्भया जैसी हैवानियत की गई। 5 युवकों ने उसे अगवाकर 2 दिन तक रेप किया। उसके प्राइवेट पार्ट में रॉड घुसा दी। इसके बाद सड़क किनारे फेंककर भाग गए। युवती सड़क किनारे बोरी में मिली, तब भी रॉड उसके उसके शरीर के अंदर थी।


युवती का इलाज दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में चल रहा है। पीड़िता खुद भी दिल्ली के एक अस्पताल में नर्स है। पुलिस ने इस सिलसिले में दीनू, शाहरुख, जावेद, धोला, औरंगजेब उर्फ जहीर के खिलाफ केस दर्ज किया है। इनमें से 4 से पूछताछ की जा रही है।


भाई ने बताई उस रात की पूरी कहानी

महिला का भाई पेशे से ऑटो ड्राइवर है। उसने बताया- घटना 16 अक्टूबर की है। बहन मेरी बर्थडे पार्टी में आई थी। पार्टी खत्म होने के बाद मैं रात साढ़े 9 बजे दिल्ली आश्रम रोड नंदग्राम हाईवे पर छोड़कर आ गया था, जहां बहन ऑटो का इंतजार कर रही थी। रात साढ़े 11 बजे भांजे ने फोन कर बताया कि मां घर नहीं पहुंची है। इसके बाद खोजबीन की, लेकिन कुछ पता नहीं चला।


महिला का प्रॉपर्टी विवाद चल रहा है

भाई ने कहा, "पुलिस प्रॉपर्टी विवाद का जिक्र कर रही है, वह प्रॉपर्टी दिल्ली के दुर्गापुरी शाहदरा में है और आरोपी पक्ष वहां कब्जा नहीं होने दे रहा है। बहन ने कोर्ट में केस फाइल कर रखा है और इस वजह से आरोपी पक्ष उसे जान से मारने की धमकी दे रहा है।"


पुलिस FIR के मुताबिक, पीड़िता को कुछ स्कॉर्पियो सवार युवक बंदूक दिखाकर सड़क से उठाकर ले गए। स्कॉर्पियो में चार लोग थे। वे उसको एक सुनसान जगह पर लेकर गए। उस जगह एक युवक पहले से मौजूद था। पांचों ने उसके साथ दो दिन तक दुष्कर्म किया। इसके बाद हाथ-पैर बांध दिए और बोरे में बंद करके फेंककर चले गए।


पुलिस बोली- आरोपी और पीड़िता पहले से परिचित

गाजियाबाद के SP सिटी निपुण अग्रवाल ने कहा, "18 अक्टूबर की सुबह साढ़े 3 बजे थाना नंदग्राम पुलिस को यूपी-112 के माध्यम से सूचना मिली कि आश्रम रोड के पास एक महिला पड़ी हुई है। पुलिस वहां पहुंची और महिला को अस्पताल लेकर गई।"


3 पॉइंट में गाजियाबाद पुलिस की बात पढ़िए...

पीड़ित महिला 18 अक्टूबर की सुबह साढ़े तीन बजे नंदग्राम थाना क्षेत्र में सड़क किनारे मिली। पुलिस तुरंत उसको मेडिकल के लिए गाजियाबाद के MMG अस्पताल लेकर आई। यहां पीड़िता ने मेडिकल कराने से मना कर दिया। पीड़िता को मेरठ मेडिकल के लिए रेफर किया गया था, लेकिन वो अपना इलाज दिल्ली के गुरु तेग बहादुर (GTB) हॉस्पिटल में करा रही है। अब गाजियाबाद पुलिस ने GTB के डॉक्टरों से बातचीत करके मेडिकल रिपोर्ट ली है और मेडिको लीगल साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं।


महिला द्वारा अपने पूर्व के परिचित दो व्यक्तियों द्वारा घटना करना बताया गया। इसके बाद पीड़िता के भाई ने पुलिस में जो एप्लीकेशन दी, उसमें पांच लोगों पर गैंगरेप करने का आरोप लगाया गया है।


नामजद दिल्ली निवासी पांचों अभियुक्त महिला के परिचित हैं। दिल्ली स्थित मकान को लेकर काफी समय से संपत्ति विवाद भी चल रहा है। इस संबंध में दिल्ली की कड़कड़डूमा कोर्ट में केस भी विचाराधीन है।


गाजियाबाद पुलिस के बयान पर पीड़िता के भाई का जवाब

बहन दिल्ली के GTB हॉस्पिटल में नर्स है। उसको उम्मीद थी कि वहां बेहतर इलाज मिल सकता है। इसलिए गाजियाबाद की जगह उसने दिल्ली के अस्पताल में इलाज कराना बेहतर समझा।


16 अक्टूबर की रात में बहन लापता हुई और 18 अक्तूबर की सुबह मिली। मैं सीधे गाजियाबाद के अस्पताल में पहुंचा। बहन ने मुझे जो बताया, वही एप्लीकेशन में लिखकर दिया है।


ये प्रॉपर्टी दिल्ली के दुर्गापुरी शाहदरा में है। बहन इसको खरीद चुकी है। हमारे पास रजिस्ट्री के दस्तावेज भी हैं। लेकिन आरोपी कब्जा नहीं दे रहे। बहन ने कोर्ट केस किया हुआ है। इसलिए आरोपी उसको जान से मारना चाहते हैं।


स्वाति मालिवाल ने गाजियाबाद पुलिस को दिया नोटिस

दिल्ली महिला आयोग (DCW) की चेयरपर्सन स्वाति मालिवाल ने बुधवार सुबह ट्वीट करके कहा, 'दिल्ली की लड़की गाजियाबाद से रात में वापस आ रही थी, उसे जबरन गाड़ी में उठा ले गए। 5 लोगों ने 2 दिनों तक बलात्कार किया। उसके प्राइवेट पार्ट में रॉड घुसा दी। सड़क किनारे बोरी में मिली, तब भी रॉड उसके अंदर थी। अस्पताल में जिंदगी के लिए लड़ रही है। SSP गाजियाबाद को नोटिस इशू किया है।'


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.