Wednesday, 19 October 2022

Maharashtra: बीजेपी के किले नागपुर में कांग्रेस ने लगाई सेंध, अधिकांश पंचायत समितियों पर किया कब्जा

Maharashtra : कांग्रेस (Congress) ने महाराष्ट्र (Maharashtra) में नागपुर जिला परिषद (Nagpur Zilla Parishad) पर अपना कब्जा बरकरार रखा और उसके उम्मीदवार सोमवार (17 अक्टूबर) को स्थानीय निकाय के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के लिए चुने गए. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि जिला परिषद सदस्यों की एक विशेष आम सभा की बैठक के दौरान कांग्रेस की मुक्ता कोकर्डे को अध्यक्ष और कुंडा राउत को उपाध्यक्ष चुना गया. उन्होंने बताया कि 57 सदस्यीय जिला परिषद में कोकर्डे को 39 मत जबकि राउत को 38 वोट मिले. 


पूर्व मंत्री और नागपुर कांग्रेस की ग्रामीण इकाई के अध्यक्ष राजेंद्र मुलक ने मीडिया से बातचीत के दौरान पार्टी के उम्मीदवारों की जीत को ऐतिहासिक बताया और दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) नागपुर (Nagpur) में जनाधार खो रही है. नागपुर, सीनियर बीजेपी  नेता एवं उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का गृह जिला है.

 

कांग्रेस की जीत ने बढ़ाई बीजेपी की चिंता

अंधेरी (पूर्व) विधानसभा उपचुनाव और बीएमसी चुनावों से पहले महाराष्ट्र में कांग्रेस को मिली इस जीत से उनका मनोबल बढ़ा है. नागपुर जिले में 13 पंचायत समितियों के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के पदों के लिए हाल ही में घोषित परिणामों में, कांग्रेस ने अध्यक्ष के नौ पदों और उपाध्यक्ष के आठ पदों पर जीत हासिल की. एनसीपी ने अध्यक्ष के तीन पदों पर तो एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना गुट ने एक पद पर जीत हासिल की. नागपुर में कांग्रेस को मिली यह जीत कई मायनों में अहम हो जाती है. 


कांग्रेस ने उस जिले में अपनी मौजूदगी दर्ज कराई है जहां आरएसएस (RSS) का मुख्यालय है और बीजेपी के वरिष्ठ नेता नागपुर से ही आते हैं. बेशक बीजेपी के लिए यह एक शर्मनाक हार है. महाराष्ट्र की दूसरी राजधानी नागपुर से ताल्लुक रखने वाले बीजेपी के दिग्गजों में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के अलावा उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस और राज्य बीजेपी प्रमुख चंद्रशेखर बावनकुले शामिल हैं.


कांग्रेस ने टीम वर्क को दिया जीत का श्रेय

कांग्रेस ने सौनेर, कलमेश्वर, परसिवनी, मौंडा, कैम्पटी, उमरेड, भिवापुर, कुही और नागपुर ग्रामीण पंचायत समितियों में अध्यक्ष पदों पर जीत हासिल की, जबकि एनसीपी ने काटोल, नरखेड़ और हिंगना में और शिंदे गुटी वाली शिव सेना ने रामटेक में जीत हासिल की. 


नागपुर से ताल्लुक रखने वाले कांग्रेस के पूर्व मंत्री नितिन राउत ने पार्टी के प्रदर्शन का श्रेय पिछले तीन वर्षों में जमीनी स्तर पर अच्छे काम को दिया, जिसमें महा विकास अघाड़ी सरकार का कार्यकाल भी शामिल है. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने बहुत सी जनकल्याणकारी योजनाओं को लागू किया, जिससे पार्टी को जनता का भरपूर साथ मिला. कांग्रेस नेताओं और मंत्रियों ने एक टीम के रूप में काम किया.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.