Wednesday, 12 October 2022

आजमगढ़ के करवे की दूसरे राज्यों में भारी मांग:चार महीने पहले ही मिल जाता है ऑर्डर, महाराष्ट्र, गुजरात में सबसे ज्यादा डिमांड

वन डिस्ट्रिक वन प्रोडक्ट के तहत आजमगढ़ के निजामाबाद की ब्लैक पॉटरी पूरी दुनिया में मशहूर है। यहां मिट्‌टी से बने उत्पादों की मांग देश के कई राज्यों में रहती है। करवा चौथ के लिए बनने वाले करवे की सबसे ज्यादा डिमांड महाराष्ट्र और गुजरात राज्य में होती है। इसके साथ ही दिल्ली राजस्थान, उत्तराखंड और यूपी के अनेक जिलों में भी यहां से बने करवे जाते हैं। दूसरे राज्यों के करवे करवा चौथ के 15 दिन पहले ही यहां से चले जाते हैं। करवे के साथ यहां ब्लैक पॉटरी से सजावटी समान और दीपावली के दिए भी बनाए जाते हैं।


पूरे वर्ष होता है करवे का निर्माण

दैनिक भास्कर से बातचीत करते हुए बैजनाथ प्रजापति का कहना है कि यहां के बने उत्पादों की मांग पूरे भारत में रहती है। यही कारण है कि यहां पूरे वर्ष करवे का निर्माण किया जाता है। महाराष्ट्र, राजस्थान, गुजरात और दिल्ली के बड़े-बड़े व्यापारी यहां पर चार माह पहले ही करवे का आर्डर दे जाते हैं और करवा चौथ के त्योहार से 15 दिन पहले ही अपने माल आकर ले जाते हैं। बैजनाथ का कहना है कि यहां के लोग लगातार करवे का निर्माण कर उसकी पेटिंग कर तैयार करते रहते हैं। इसके बाद भी हर वर्ष जितने आर्डर मिलते हैं उनको पूरा नहीं किया जा सकता है। ऐसे में अबकी बार मशीन लग गई है जिससे और अधिक मात्रा में करवे का निर्माण होगा और जिससे अधिक से अधिक सप्लाई की जा सकेगी।


मिट्‌टी के कारोबार से जुड़े हैं लोग

निजामाबाद की लगभग दो हजार आबादी ब्लैक पॉटरी से बनने वाले उत्पादों से जुड़ी हुई है। यहां बनने वाले सामानों में सजावटी सामान, मिट्‌टी के दिए प्रमुख हैं। ब्लैक पॉटरी से बनने वाले उत्पाद दूर तक बहुत प्रसिद्ध हैं। यही कारण है कि त्योहारों के समय यहां के बने उत्पादों की डिमांड दूसरे राज्यों में अधिक होती है। ब्लैक पॉटरी से बने उत्पादों को बनाकर यहां के लोग अपनी अजीविका चला रहे हैं।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.