Thursday, 27 October 2022

भारत जोड़ो यात्रा के दौरान अब राहुल भी जायेंगे महाकाल, मध्य प्रदेश की यात्रा का रूट तय

भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी उज्जैन महाकाल और बाबा साहेब अम्बेडकर की जन्मस्थली महू जायेंगे. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में अभी राहुल की यात्रा की तैयारी जोर-शोर से चल रही है. 30 अक्टूबर को राहुल की मध्य प्रदेश में यात्रा का अंतिम रूट जारी किया जाएगा. एबीपी न्यूज की जानकारी के मुताबिक राहुल के दो स्थान तय हो गए हैं, वो हैं बाबासाहेब अम्बेडकर की जन्म स्थली महू और उज्जैन में बाबा महाकाल.


राहुल गांधी की यात्रा के इस रूट पर बीजेपी तंज कस रही है. बीजेपी का कहना है कि राहुल महाकाल के दरबार में राजनीति करने जा रहे हैं, जो नहीं होनी चाहिए. भारत जोड़ो यात्रा मध्य प्रदेश में महाराष्ट्र के रास्ते बुरहानपुर से प्रवेश करेगी और अगले 16 दिन तक प्रदेश के अलग-अलग जिलों से गुजरेगी. बुरहानपुर के बाद इस यात्रा का फाइनल रूट क्या होगा इस पर मंथन चल रहा है. कांग्रेस के सभी बड़े नेता रस्ते की रेकी करने निकले हैं. पीएम मोदी की उज्जैन यात्रा के बाद राहुल की यात्रा का उज्जैन जाना भी तय है क्योंकि कार्यकर्ता ये चाहते हैं कि कांग्रेस भी अपनी हिन्दू विरोधी दल की छवि से मुक्ति पाए.


‘महाकाल के दर्शन करने से पार्टी को फायदा’


मामले पर बात करते हुए प्रवक्ता भूपेंद्र गुप्ता ने कहा कि कांग्रेस में यात्रा से जुड़े लोग मान रहे हैं कि उज्जैन जाने से पार्टी और राहुल को फायदा मिलेगा. मगर बीजेपी इस उड़ती खबर पर तंज कस रही है और राहुल की प्रस्तावित उज्जैन यात्रा को राजनीति से प्रेरित बता रही है. शिवराज सरकार के मंत्री विश्वास सारंग कहते हैं कि राहुल को महाकाल की याद चुनाव के समय आती है और वो राजनीति करने ही उज्जैन जा रहे हैं. कांग्रेस का कहना है कि मध्य प्रदेश में कोई भी यात्रा बगैर महाकाल के अधूरी है.


अंबेडकर के जन्मस्थान पर जाएंगे राहुल


एबीपी न्यूज को मिली जानकारी के मुताबिक यात्रा 16 दिन तक प्रदेश में 382 किलोमीटर चलकर सागर जिले से राजस्थान में निकल जायेगी. इस दौरान राहुल गांधी (Rahul Gandhi) बाबा साहेब अम्बेडकर की जन्मस्थली महू भी जायेंगे और उनके यहां मत्था टेकेंगे. ये जगह देश भर के दलितों के लिए तीर्थ से कम नहीं है. यात्रा के लिए भोपाल के कांग्रेस दफ्तर में कंट्रोल रूम बनाया गया है. जहां लोगों को जोड़ने के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरवाए जा रहे हैं.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.