Sunday, 23 October 2022

PFI का प्रभाव महाराष्ट्र भर में फैला, अब नासिक से एक और सदस्य पकड़ा गया

 

कुछ दिनों पहले से कट्टर इस्लामिक संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) संगठन के खिलाफ देश भर के कई ठिकानों पर कठोर कार्रवाइयां शुरू हैं. एनआईए ने देश के सौ से ज्यादा ठिकानों पर छापेमारी का सिलसिला शुरू कर इसके कई सदस्यों को गिरफ्तार किया था. महाराष्ट्र में भी दो दर्जन ठिकानों पर एनआईए और एटीएस समेत कुछ अन्य एजेंसियों ने सामंजस्य बनाकर पीएफआई के खिलाफ जोरदार कार्रवाई शुरू की. अब नासिक में पीएफआई का एक और सदस्य पकड़ा गया है.


कुछ दिनों पहले नासिक से हिरासत में लिए गए एक संदिग्ध व्यक्ति से पूछताछ में कुछ सनसनीखेज खुलासे हुए थे. उसके बाद आज (शनिवार, 22 अक्टूबर) फिर एक पीएफआई कार्यकर्ता को एटीएस ने पकड़ा है. उसे कोर्ट में भी पेश किया गया है. इतनी तेजी से एक के बाद एक कार्यकर्ताओं के पकड़े जाने से यह समझा जा सकता है कि नासिक में पीएफआई की जड़ें कितनी गहरी जम चुकी हैं.


पकड़े गए पीएफआई कार्यकर्ता को कोर्ट में किया गया पेश

देश भर में हुई छापेमारियों के बाद केंद्र सरकार ने भी पीएफआई संगठन पर पाबंदी लगा दी. इसके बाद राज्य भर में एटीएस ने अपनी सक्रियताएं बढ़ा कर पीएफआई के कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया और पूछताछ के बाद उनमें से कई लोगों को गिरफ्तार भी किया. पीएफआई के कार्यालयों पर ताले लगाए गए. लेकिन इसके बाद भी पीएफआई की गतिविधियां शुरू रहीं. ऐसे में आज फिर नासिक से पीएफआई का एक सदस्य पकड़ा गया है. यह इस बात का सबूत है कि धड़पकड़ बढ़ने के बाद भी पीएफआई की गतिविधियां शुरू हैं.


कल जलगांव से एक पीएफआई कार्यकर्ता हिरासत में लिया गया

कुछ दिनों पहले की एनआईए और एटीएस की संयुक्त कार्रवाइयों में नासिक जिले के मालेगांव, कोल्हापुर, औरंगाबाद समेत राज्यभर से आतंकी साजिशें रचने के शक में पीएफआई के पांच संदिग्धों को अरेस्ट किया गया था. इसके बाद कल फिर जलगांव जिले के एक सदस्य को हिरासत में लिया गया. इस सदस्य को भी कोर्ट में हाजिर किया गया है. थोड़े ही वक्त में इसे कस्टडी में भेजा जा सकता है.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.