Monday, 17 October 2022

महाराष्ट्र: पढाई के लिए मां ने टोका तो 14 साल की नाबालिक बच्ची ने खुद ही रची अपने ‘अपहरण’ की झूठी कहानी


महाराष्ट्र : हर मां बाप यही चाहते हैं कि उनका बच्चा अच्छे से पढ़े लिखे और जीवन में आगे बढ़कर अपने सपनों को पूरा करे। महाराष्ट्र (Maharashtra) के नागपुर (Nagpur) में एक 14 साल की बच्ची को अपनी मां द्वारा पढ़ाई (Study) के लिए टोके जाने का इतना ज्यादा बुरा लगा कि उसने घर से 150 किलोमीटर दूर पहुंचकर अपने ही अपहरण (Kidnapping) की फर्जी कहानी रच डाली। 


दरअसल, यह 14 साल की बच्ची एक दिन अचानक अपने घर से भागकर 150 किलोमीटर पड़ोस के चंद्रपुर जिला जा पहुंची। इसके बाद जब परिजनों ने बच्ची को घर में नहीं पाया तो रिश्तेदारों के साथ मिलकर उसे ढूंढने लगे। बाद में उन्होंने पुलिस से संपर्क किया और गुमशुदगी की शिकायत दर्ज कराई। इधर लड़की चंद्रपुर के राम नगर थाने गई और वहां पर उसने पुलिस को बताया कि उसका नागपुर से दो महिलाओं ने एक कार में अपहरण कर लिया था। 


महिलाओं ने उसका अपहरण कर उसे चंद्रपुर लाया। आगे उसने पुलिस को यह भी बताया कि वह किसी तरह उनके चंगुल से बचने में कामयाब हो गई। लड़की द्वारा ये सब बताने पर चंद्रपुर पुलिस ने नागपुर में उसके माता-पिता के साथ संपर्क किया और बाद में लड़की को परिवार के हवाले कर दिया गया। इसके बाद जब पुलिस ने मामले की तहकीकात शुरू की तो बेहद चौंका देने वाला खुलासा हुआ। 


आपको बता दें कि CCTV फोटोज की वजह से उन्हें पता चला कि लड़की को किडनैप नहीं किया गया था। बल्कि लड़की खुद वहां गई थी। इसके बाद जब पुलिस ने लड़की को फोटोज दिखाकर उसका मकसद पूछा तो उसने बताया कि वह पढ़ाई को लेकर मां (Mother) की डांट से परेशान हो गई थी। इसके चलते उसने घर से भागने का फैसला किया और फिर अपहरण की झूठी कहानी सुनाई

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.