Monday, 31 October 2022

BMC के पिछले 2 साल के कामकाज की होगी CAG जांच, महाराष्‍ट्र सरकार का बड़ा आदेश


मुंबई : देश के सबसे अमीर म्‍युनिसिपल कारपोरेशन बृहन्मुंबई महानगरपालिका यानि BMC के कामकाज में अनियमितताओं को लेकर महाराष्‍ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने बड़ा आदेश जारी किया है. महाराष्ट्र सरकार ने बीएमसी के पिछले 2 सालों के कामकाज की CAG से जांच कराने का आदेश जारी किया है. दरअसल, बीते दो सालों में राज्‍य में उद्धव ठाकरे की सरकार थी और बीएससी में भी शिवसेना की सत्‍ता थी. बीजेपी की ओर से बड़े भ्रष्‍टाचार का आरोप लगाए जाने के बाद सरकार ने यह कदम उठाया है.


बीजेपी की तरफ से आरोप लगाया गया है कि कोरोना काल के दौरान कोविड सेंटरों के वितरण, उसके लिए लगने वाली चीजों की खरीददारी और दवाइयों की खरीददारी में बड़े पैमाने पर भ्रष्‍टाचार किया गया. बीजेपी का आरोप है कि इन सभी चीजों में बीएमसी अधिकारियों द्वारा बड़े स्तर पर भ्रष्टाचार किया गया, जिसके बाद महाराष्‍ट्र की एकनाथ शिंदे सरकार ने इसकी जांच सीएजी से कराए जाने के आदेश जारी किए हैं.


सरकार की तरफ से जारी आदेश में CAG को मामले की जल्द से जल्द जांच कर रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है, ताकि दोषियों पर जल्‍द कड़ी कार्रवाई की जा सके. बता दें कि बीते दो सालों में राज्य में उध्दव ठाकरे की सरकार थी, जबकि बीएमसी में शिवसेना की सत्ता थी.


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.