Friday, 21 October 2022

जमाई का रखें ध्यान...जो शरद पवार कहेंगे वही करूंगा, एकनाथ शिंदे के मन में क्या चल रहा है?


मुंबई: महाराष्ट्र (Maharashtra) के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) ने बुधवार की शाम एमसीए चुनाव (MCA Election) के पहले डिनर टेबल पर एक बात कहकर सबको चौंका दिया है। महाराष्ट्र की राजनीति में एकनाथ शिंदे के इस वाक्य के सियासी मायने निकाले जा रहे हैं। दरअसल एकनाथ शिंदे ने शरद पवार (Sharad Pawar) और देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) की मौजूदगी में यह कहा कि मेरा और पवार साहब का जन्म महाराष्ट्र के सतारा जिले में हुआ है। मैं वही करूंगा जो पवार साहब कहेंगे। अब महाराष्ट्र ही नहीं पूरा देश यह जानता है कि एकनाथ शिंदे इस वक्त बीजेपी के साथ मिलकर सरकार चला रहे हैं। वहीं, महाविकास अघाड़ी गठबंधन विपक्ष में बैठा हुआ है। एकनाथ शिंदे ने उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) की पार्टी शिवसेना को तोड़कर यह गठबंधन किया है। अब तक शरद पवार की मुखलाफ़त करने वाले एकनाथ शिंदे अचानक उनकी शान में कसीदे पढ़ने लगें तो माथा ठनकना स्वाभाविक है। यह सवाल राज्य का हर युवा, बुजुर्ग और महिलाएं सोच रही होंगी।


अगर आप एकनाथ शिंदे के इस बयान को सियासत से जोड़ कर देख रहे हैं तो फिर रुक जाइए। दरअसल एकनाथ शिंदे ने यह बयान एमसीए चुनाव के मद्देनजर बुधवार की शाम दिया था। हम सब जानते हैं शरद पवार बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष रह चुके हैं। सियासत से लेकर क्रिकेट तक पर शरद पवार की अच्छी पकड़ है। लिहाजा एकनाथ शिंदे का यह बयान भी क्रिकेट और उससे जुड़ी चीज़ों से जोड़कर देखा जाना चाहिए।


मेरे ससुर शिंदे थे...

डिनर प्रोग्राम के दौरान शरद पवार मजाकिया लहजे में एकनाथ शिंदे की खिंचाई करते हुए कहा कि मेरे ससुर भी शिंदे थे लेकिन वह सिर्फ शिंदे नहीं बल्कि क्रिकेटर शिंदे के उन्हें शिंदे की बेटी पवार की बीवी है ऐसे में एकनाथ शिंदे को भी अपने बेटी का ध्यान रखते हुए जो कुछ भी दामाद कहे उस पर गंभीरता से ध्यान देना चाहिए। फिलहाल मैं यही विनती करूंगा। शरद पवार के इस मजाक के बाद महफिल में मौजूद तमाम लोग हंसने लगे और तालियां बजाने लगे। इसी हंसी मजाक को आगे बढ़ाते हुए देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि अब जब पवार साहब ने मुख्यमंत्री पर को यह जवाबदारी दी है और उन्हें एक तरह से बांध दिया है तो फिर ससुराल पक्ष के व्यक्ति की बात को कौन टाल सकता है।


एकनाथ शिंदे की बैटिंग और शरद पवार की कैच

हमें भी थोड़ी-थोड़ी बैटिंग करना आता है। तीन महीने पहले हमने बैटिंग की थी और मैच भी जीता था। यह कहते हुए एकनाथ शिंदे ने सत्ता संघर्ष की कहानी को याद किया। उन्होंने कहा कि जब-जब हमें मौका मिलेगा तब-तब हम बैटिंग करते रहेंगे। एकनाथ शिंदे की इस बात के जवाब में पास में ही बैठे शरद पवार ने कहा कि हमें भी अगर मौका मिला तो अच्छे से कैच पकड़ना आता है, इस बात को ध्यान में रखिएगा। शरद पवार की इस हाजिर जवाबी के चलते वहां उपस्थित सभी लोग हंसने लगे।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.