Tuesday, 11 October 2022

Mumbai: ट्रेन में बेटी के साथ सफर कर रहे थे पूर्व मुख्‍यमंत्री, मौका देखते ही चोर ने की फोन चुराने की कोशिश



मुंबई: पूर्व गृहमंत्री और महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री रह चुके सुशील कुमार शिंदे (Sushil Kumar Shinde) का कथित रूप से मोबाइल फोन चुराने वाले शख्‍स करे गिरफ्तार कर न्‍यायिक हिरासत (Judicial Custody) में भेज दिया गया है। संबंधित अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी। आरोपी की पहचान मंदार प्रमोद गरव (Mandar Pramod Gurav) के रूप में हुई है। उसे गवर्नमेंट रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने गिरफ्तार कर 14 दिनों की न्‍यायिक हिरासत में भेज दिया।


अधिकारियों ने बताया कि आरोपी सुशील कुमार शिंदे के संसदीय क्षेत्र का ही रहने वाला है। बता दें कि घटना 6 अक्‍टूबर की है जब शिंदे सोलापुर (Solapur) से अपनी विधायक बेटी प्रणिती शिंदे के साथ ट्रेन से मुंबई आ रहे थे। आरोपी भी उनके साथ उसी बोगी में सफर कर रहा था।


मंत्री के सीट से उठते ही चोर ने की चोरी की कोशिश 

ट्रेन दादर स्‍टेशन पहुंचने ही वाली थी कि शिंदे अपना फोन सीट पर छोड़कर शौचालय चले गए। बस मौका मिलते ही आरोपी ने पूर्व मुख्‍यमंत्री के फोन को चुराने की कोशिश की। इस दौरान शिंदे की बेटी ने उन्‍हें रंगे हाथों पकड़ लिया और रेलवे पुलिस को इसकी जानकारी दी। मंदार प्रमोद गरव को 6 अक्‍टूबर को कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने उसे एक दिन पुलिस की हिरासत में रहने का निर्देश दिया। 


पहले भी कई बार मंत्रियों को निशाना बना चुके हैं चोर

हालांकि, यह कोई पहली दफा नहीं है, बल्कि इससे पहले भी चोर नेता-मंत्रियों को निशाना बना चुके हैं। इसी साल अप्रैल के महीने में उत्‍तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में मीरापुर क्षेत्र के तहत आने वाले गांव कुतुबपुर में चोरों ने भाजपा नेता अरविंद राज शर्मा के घर में घुसकर लाखों रुपये के सामान चुराए थे। हालांकि, बाद में सीसीटीवी फुटेज की मदद से पुलिस ने इन्‍हें धर दबोचा।


धरना प्रदर्शन के दौरान चोरों ने काटी नेताओं की जेब

इसके अलावा, अभी दो लगभग दो महीने पहले छत्‍तीसगढ़ के रायपुर में आयोजित एक धरना प्रदर्शन के दौरान कई कांग्रेसी नेताओं के सामान चोर चुरा ले गए। प्रदर्शन खत्‍म होने के बाद पता चला कि किसी का फोन गायब है, तो किसी का पर्स।


इस दौरान कांग्रेस के नेताओं ने पूरे राज्‍य में देश में बढ़ती महंगाई, खाद्य पदार्थों में लगी जीएसटी और अग्निपथ योजना के विरोध में प्रदर्शन किया था। कार्यक्रम में जमा हुई भीड़ में चोर भी शामिल थे तो नेताओं का जेब काट ले गए।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.