Monday, 31 October 2022

Maharashtra: बैकफुट पर रवि राणा! माफी मांगने के बाद भी नहीं माने बच्चू कडू, कल लेंगे अंतिम फैसला

महाराष्ट्र में प्रहार जनशक्ति पार्टी (Prahar Janshakti Party) के प्रमुख बच्चू कडू (Bachchu Kadu) और निर्दलीय विधायक रवि राणा के बीच जारी सियासी घमासान अब थमता दिख रहा है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) से बातचीत के बाद इस विवाद को सुलझा लिया गया है। विधायक रवि राणा ने खुद सार्वजानिक तौर पर माफी मांगी और कहा कि अब यह विवाद खत्म हो गया हैं।


पूर्वी महाराष्ट्र के अमरावती जिले के बडनेरा के विधायक रवि राणा के सार्वजनिक रूप से माफी मांगने के बाद भी बच्चू कडू ने अपने शब्दों को वापस नहीं लिया और स्पष्ट रूप से यह नहीं कहा कि विवाद ख़त्म हो गया है। बच्चू कडू ने कहा कि वह अपने कार्यकर्ताओं से चर्चा करेंगे और बैठक के बाद मंगलवार को अपना निर्णय सबको बताएंगे।


बच्चू कडू ने आज मीडिया से बातचीत के दौरान कहा, सीएम शिंदे और डिप्टी सीएम फडणवीस ने हस्तक्षेप किया। उन्होंने मामले को बखूबी संभाला। उनको शुक्रिया। लेकिन मेरे कार्यकर्ता मेरे लिए महत्वपूर्ण हैं। इसलिए कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करूँगा और फिर आगे निर्णय लूँगा।


उन्होंने कहा “मैं कार्यकर्ताओं से पूछे बिना कोई निर्णय नहीं लेता। उनसे पूछने के बाद कल फैसला लूँगा। शाम छह बजे इस मुद्दे पर पार्टी कार्यकर्ताओं से चर्चा होगी। इसके बाद मंगलवार दोपहर 12 से 1 बजे तक कार्यकर्ताओं की जनसभा होगी, जिसमें पूरे राज्य से कार्यकर्ता आएंगे। इसके बाद अपने अगले कदम का खुलासा करूँगा।“


बच्चू कडू ने अपनी राय व्यक्त करते हुए कहा “विवाद नहीं होना चाहिए था। मैंने कोई विवाद नहीं खड़ा किया। राणा ने ही सारे आरोप लगाये थे। कुछ लोग कहते हैं कि मैंने विवाद किया। मैंने कोई बहस नहीं की। मुझे नहीं लगता कि मैंने कुछ गलत किया है। मैंने अपना सिर्फ स्टैंड लिया।“


बीते हफ्ते से बीजेपी समर्थक विधायक रवि राणा और शिंदे गुट के विधायक बच्चू कडू के बीच सार्वजनिक तौर पर झगड़ा चल रहा है। राणा ने कडू पर शिवसेना के एकनाथ शिंदे नीत खेमे में शामिल होने के लिए गुवाहाटी जाकर पैसे लेने का आरोप लगाया था।


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.