Wednesday, 12 October 2022

Maharashtra : क्या महाराष्ट्र में बीजेपी और शिंदे गुट में है अनबन? पूर्व विधायक ने लगाए ये आरोप

महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. ताजा मामला मीरा भयंदर महानगरपालिका में करीब 2 हज़ार करोड़ की जॉइंट योजनाओं के भूमि पूजन कार्यक्रम का है, जहां आज मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के साथ डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस को शामिल होना था. मीरा भयंदर में इन कार्यक्रमों के लिए कई जगहों पर दोनों लोगों के साथ बड़े-बड़े होर्डिंग भी लगाए गए थे. बता दें कि इस कार्यक्रम में केवल मुख्यमंत्री शिंदे ही पहुंचे थे. इसके बाद से यह कयास लगाए जाने लगा कि क्या महाराष्ट्र में दोनों पार्टियों के बीच सब कुछ ठीक चल रहा है

.

बीजेपी पूर्व विधायक का आरोप


देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के रिश्ते पर बीजेपी के ही लोगों ने सवाल उठाए हैं. बीजेपी के पूर्व विधायक नरेंद्र मेहता का आरोप लगाते हुए कहा कि बिल्डरों को फायदा पहुंचाने के लिए जल्दबाजी में मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री के हाथों से योजनाओं का शुभारंभ किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बिल्डरों को फायदा पहुंचाने के वास्ते अस्पताल के लिए आरक्षित बड़ी जगह के बजाय छोटी जगह पर नए अस्पताल का भूमिपूजन क्यों किया जा रहा है? उन्होंने कहा कि महाराणा प्रताप के जिस पुतले का अनावरण 2 साल पहले हो चुका है उसका फिर दोबारा अनावरण क्यों किया जा रहा है?


बीजेपी नेताओं को नहीं मिला प्रवेश


बता दें कि मीरा भयंदर में आज लता मंगेशकर नाटक सभागृह का भी उद्घाटन हुआ लेकिन इस कार्यक्रम में बीजेपी के कई नगरसेवक और बीजेपी के पूर्व विधायक नरेंद्र मेहता को मुख्यमंत्री शिंदे के कार्यक्रम में अंदर जाने नहीं दिया गया. जिसके कारण ये लोग गेट पर एकनाथ शिंदे के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने के लिए बैठ गए. बीजेपी नेताओं ने इनविटेशन कार्ड को फाड़ कर अपना विरोध प्रदर्शन जताया. उस इनविटेशन कार्ड पर बीजेपी के  इन नेताओं का भी नाम लिखा हुआ था. इसके बावजूद भी उन्हें अंदर नहीं जाने दिया गया.


आने वाले समय में और बढ़ सकता है विवाद


अब सवाल यह उठता है कि क्या बीजेपी और शिवसेना के गठबंधन में चल रही सरकार और पार्टी के बीच सब कुछ सामान्य है. बता दें कि महानगर पालिकाओं के अंदर अभी से शिवसेना शिंदे गुट और बीजेपी में भी विरोध देखने को मिलने लगा है. कुछ ही महीनों बाद मुंबई और उसके आसपास की कई महानगर पालिकाओं के चुनाव होने वाले हैं जिसमें ऐसे और भी घमासान देखने को मिल सकते हैं.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.