Monday, 26 September 2022

राकांपा ने रुपये के मूल्य में गिरावट पर सीतारमण से मांगा स्पष्टीकरण

मुंबई: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) ने अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत रिकॉर्ड निचले स्तर पर आने के बारे में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से स्पष्टीकरण मांगा है।


राकांपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता क्लाइड क्रैस्टो ने सोमवार को एक बयान में कहा कि वित्त मंत्री को बताना चाहिए कि रुपया डॉलर के मुकाबले 81.47 के रिकॉर्ड निचले स्तर तक किस तरह गिर गया। उन्होंने कहा, "अगर वह वित्त मंत्रालय पर अधिक ध्यान दें और बारामती पर कम ध्यान दें तो वह रुपये की स्थिति को शायद संभाल सकती हैं।"


सीतारमण ने शनिवार को पुणे में एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि दुनिया की दूसरी मुद्राओं की तुलना में रुपया डॉलर के मुकाबले कहीं अधिक मजबूती से टिका रहा है। इसके साथ ही उन्होंने कहा था कि वित्त मंत्रालय और रिजर्व बैंक ने रुपये की स्थिति पर करीबी नजर रखी हुई है।


सीतारमण ने पिछले हफ्ते बारामती का तीन-दिवसीय दौरा खत्म करने के आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि रुपये ने मौजूदा स्थिति में खुद को मजबूती से टिकाए रखा है।


महाराष्ट्र का बारामती राकांपा प्रमुख शरद पवार का परंपरागत गढ़ रहा है। इस समय पवार की बेटी सुप्रिया सुले इस लोकसभा क्षेत्र की सांसद हैं।


राकांपा के प्रवक्ता ने सीतारमण के बारामती दौरे के बाद उन पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्हें रुपये की गिरती स्थिति पर अधिक ध्यान देना चाहिए। उन्होंने सीतारमण से रुपये में आ रही गिरावट पर स्पष्टीकरण देने की भी मांग की।


रुपये की कीमत अंतरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में सोमवार को कारोबार के दौरान 81.50 रुपये प्रति डॉलर के स्तर तक गिर गई जो इसका अब तक का सबसे निचला स्तर है। अमेरिकी मुद्रा के मजबूत बने रहने और आर्थिक मंदी की आशंका से परेशान निवेशकों के जोखिम से बचने की प्रवृत्ति ने रुपये की कीमत को गिराने में अहम भूमिका निभाई है।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.