Monday, 19 September 2022

बच्चा चोरी की अफवाहों से डरी मायानगरी, अभिभावकों की नींद उड़ी


नई दिल्ली: देशभर में बच्चा चोर गैंग के नाम से जो अफवाह आग की तरफ फैल रही है,  वह अब मुंबई पहुंच चुकी है. इन अफवाहों को फैलाने वालों ने इस बार मुंबई के स्कूलों को टारगेट किया है. आलम ये है कि बच्चों के पेरेंट्स एक मिनट के लिए भी अपने बच्चों को अकेला नही छोड़ रहे हैं. मुम्बई के स्कूलों में इन अफवाहों ने कैसे अभिभावकों की नींद उड़ा दी है देखिये हमारी इस खास रिपोर्ट में. पहला मामला महाराष्ट्र के सांगली का  है, जहां भीड़ ने उत्तरप्रदेश के चार साधुओं को 'बच्चा चोर' समझकर बेरहमी से पीट डाला. साधुओं की बेरहमी से पिटाई का मामला अभी शांत भी नही हुआ था कि ठाणे के मुम्ब्रा से भी इसी तरह की घटना सामने आयी जहां भीड़ ने बच्चा चोर समझकर 2 महिलाओं को जमकर पीटा. पूरे देश से बच्चा चोर गैंग के नाम पर अफवाह फैलाने के अलग-अलग मामले सामने आ रहे हैं और अब इस तरह की अफवाहों ने मुम्बई के  लोगों की भी नींद उड़ा दी है.


एक तरफ जहां देश की साइबर पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि आखिर बच्चा चोरी के नाम से लोगों में डर कौन फैला रहा है तो वहीं दूसरी तरफ आग की तरह फैल रही ये अफवाह अब देश की आर्थिक राजधानी मुम्बई पहुंच चुकी है. मुम्बई के कुछ स्कूलों का नाम लेकर ये अफवाह फैलाया जा रहा है कि स्कूल के बाहर से बच्चे चोरी हो रहे हैं. डर का आलम ये है की पेरेंट्स अपना सारा काम छोड़कर अपने बच्चों को खुद स्कूल से लेने और छोड़ने जा रहे हैं.


 मुम्बई के कई स्कूलों के नाम से सोशल मीडिया पर ये अफवाह फैलाई जा रही है कि स्कूल के बाहर से बच्चा चोरी की घटना बढ़ रही है. बच्चा चोरी के डर से मायानगरी मुम्बई के अभिभावकों की नींद उड़ चुकी है. आलम ये है कि पेरेंट्स अपने बच्चों का हाथ पकड़कर उन्हें स्कूल छोड़ने और फिर लेने जा रहे हैं. स्कूल के प्रिंसिपल ने पेरेंट्स को इन अफवाहों पर विश्वास नही करने को कहा है. इतना ही नही हर रोज स्कूल छूटने से पहले प्रिंसिपल की तरफ से अनाउंसमेंट किया जा रहा है कि बच्चे स्कूल के बाद सीधे घर जाएं और यहां बिल्कुल ना भटके. वहीं मुम्बई पुलिस भी लोगों से अपील कर रही है कि इन अफवाहों से डरे लेकिन सतर्क रहें.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.