Friday, 23 September 2022

मुंबई में लंपी संक्रमण को लेकर BMC अलर्ट, अब तक 2 हजार से ज्यादा गायों का किया वैक्सीनेशन

Mumbai: देश के कई राज्यों में लंपी वायरस मवेशियों पर कहर बनकर टूट रहा है. वहीं महाराष्ट्र में भी इस गंभीर बीमारी का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. ऐसे में लंपी संक्रमण के खतरे को देखते हुए मुंबई (Mumbai) में बीएमसी (BMC) ने शहर में गायों का टीकाकरण शुरू कर दिया है. नगर निकाय के आंकड़ों के अनुसार, अब तक 2 हजार 203 गायों का वैक्सीनेशन किया जा चुका है, जबकि शेष गायों को अगले सप्ताह टीका लगाया जाएगा. नागरिक स्वास्थ्य अधिकारी ने ये जानकारी दी है.


मुंबई में कितने हैं मवेशी

राज्य सरकार की ओर से जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक लंपी वायरस मुख्य रूप से मवेशियों में पाया जाता है. पशुपालन विभाग ने संबंधित अधिकारियों को गायों के टीकाकरण में तेजी लाने का निर्देश दिया है, जो मुफ्त में उपलब्ध होगा. 2019 में हुई जनगणना के अनुसार मुंबई शहर में 3 हजार 226 गाय और 24 हजार 388 भैंस हैं. इन सबके बीच 'खार में एक गाय में ढेलेदार त्वचा रोग का नया मामला सामने आया है. वहीं इससे पहले दो संक्रमित गायों को गोरेगांव ईस्ट के पशु अस्पताल में आइसोलेशन में रखा गया है.


गायों के टीकाकरण पर दिया जा रहा ज्यादा जोर

बता दें कि बीएमसी गायों के टीकाकरण में भी तेजी ला रही है क्योंकि वे भैंसों की तुलना में गांठदार बीमारियों की चपेट में ज्यादा आ रही है.वहीं अब पशु चिकित्सा अधिकारियों और वरिष्ठ स्वच्छता निरीक्षकों की एक टीम मवेशी शेड का दौरा करेंगी और संचालकों को शिक्षित करेंगी. देवनार बूचड़खाने के महाप्रबंधक डॉ कलिमपाशा पठान ने कहा कि कीटनाशक विभाग ने गौशालाओं और आसपास के क्षेत्रों में फॉगिंग और कीट नियंत्रण के उपाय भी शुरू कर दिए हैं.


क्या है लंपी संक्रमण रोग

गौरतलब है कि ढेलेदार त्वचा या लंपी संक्रमण एक वायरल बीमारी है जो मवेशियों को प्रभावित करती है. यह मच्छरों और मक्खियों जैसे रक्त-पान करने वाले कीड़ों से फैलती है. इस रोग के कारण बुखार, त्वचा पर गांठें पड़ जाती हैं और संक्रमित पशुओं की मृत्यु भी हो सकती है. पशुओं के टीकाकरण के लिए लोग 022-25563284/022-25563285 पर बीएमसी से संपर्क कर सकते हैं.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.