Tuesday, 20 September 2022

भारत के लिए खतरा बन सकता है ये खिलाड़ी, महेला जयवर्धने ने बताया नाम

नई दिल्ली: Ind Vs Aus 2022: आज इंडियन टीम को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहला T-20 मुकाबला खेलना है. मोहाली में खेले जाने वाले इस पहले मैच के साथ ही तीन t-20 मैचों की सीरीज का आगाज होने जा रहा है. इसी बीच श्रीलंका के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने ने मैच के बारे में भविष्यवाणी करते हुए भारत के खिलाफ सबसे बड़े खतरे के बारे में बताया है. 


ये खिलाड़ी बन सकता है भारत के लिए खतरा


श्रीलंका के पूर्व कप्तान महेला जयवर्धने का मानना है कि बड़े हिटर बल्लेबाज टिम डेविड ऑस्ट्रेलिया के लिए एक्स-फैक्टर हो सकते हैं, जिन्हें जरूरत पड़ने पर नंबर 6 बल्लेबाज के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है. डेविड मंगलवार से भारत के खिलाफ शुरू होने वाली तीन मैचों की आगामी श्रृंखला के दौरान ऑस्ट्रेलिया के लिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू कर सकते हैं. 


इस देश के लिए भी खेल चुके हैं टिम डेविड


ऑस्ट्रेलियाई टीम का हिस्सा बनने से पहले टिम डेविड सिंगापुर के लिए भी खेल चुके हैं. सिंगापुर के लिए खेलते हुए टिम डेविड ने पावर हिटर और मैच फिनिशर के तौर पर कई शानदार पारियां भी खेलीं. जयवर्धने ने आईसीसी रिव्यू शो में ऑस्ट्रेलियाई टीम के बारे में बात करते हुए कहा, "मुझे लगता है कि उनके पास एक बेहतरीन पावर हिटर बल्लेबाज होंगे. व्यक्तिगत रूप से, मुझे लगता है कि टिम डेविड के लिए नंबर छह एक शानदार जगह है. ऑस्ट्रेलिया के पास एक बहुत अच्छी लाइनअप है, जो कि उनके लिए अच्छी बात है."


मुंबई इंडियंस के लिए भी खेल चुके हैं डेविड


बता दें कि टिम डेविड मुंबई इंडियंस टीम का हिस्सा भी रह चुके हैं. मुंबई इंडियंस के मुख्य कोच के रूप में जयवर्धने ने उन्हें आईपीएल 2022 में करीब से देखा, जब डेविड ने टूर्नामेंट के दौरान आठ मैचों में 216.27 के प्रभावशाली स्ट्राइक रेट से 186 रन बनाए थे.


उन्होंने कहा, "वह फ्रेंचाइजी क्रिकेट में अन्य बड़े खिलाड़ियों के साथ ड्रेसिंग रूम साझा कर रहे हैं. वह एक अच्छे खिलाड़ी हैं और वह खुद को ड्रेसिंग रूम में सबके साथ ढाल सकते हैं. पहली बार ऑस्ट्रेलिया का प्रतिनिधित्व करने वाले टिम विश्व कप के लिए उनकी भूमिका काफी चुनौतिपूर्ण होने जा रही है, जो उनके परिवार के लिए और उनके सभी दोस्तों के लिए अच्छा है."


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.