Wednesday, 7 September 2022

Mumbai : बुजुर्गों के साथ ठगी करने वाला हुआ गिरफ्तार, अलग-अलग पहचान बनाकर लूट को देता था अंजाम

Mumbai : मुंबई पुलिस को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। लोकल क्राइम ब्रांच (एलसीबी) ने फेसबुक और मेट्रिमोनियल साइट्स पर अपनी फर्जी आईडी के जरिए कई बुजुर्ग महिलाओं को बहला-फुसलाकर उनके पैसे और कीमती सामान लूटने वाले एक ठग को गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान भंडारा के रहने वाले सोहम वासनिक के तौर पर हुई है। पुलिस ने वासनिक को बल्लारपुर तालुका के कोठारी की एक 67 वर्षीय महिला के घर से 24 तोला सोना लूटने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।  


पुलिस जांच में पता चला कि वासनिक ने पहले भी इसी तरह से नागपुर, यवतमाल और भंडारा की महिलाओं को बरगलाया और उनके साथ लूट की थी। एलसीबी प्रभारी पीआई बालासाहेब खाडे ने बताया कि, वासनिक भंडारा जिले के लखंदूर तालुका के एक छोटे से गांव भगड़ी का रहने वाला है।  


महिलाओं को बताया था विधुर

वह एक कॉलेज में प्रोफेसर के पद पर कार्यरत है। हालांकि उसने अकोला निवासी डॉ. सुमित बोरकर के नाम से फेसबुक और मेट्रिमोनियल साइट्स पर फर्जी आईडी बनाई है, जिसके जरिए वह पीड़ितों को अपनी पहचान सरकारी मेडिकल कॉलेज, अकोला में कार्यरत एमबीबीएस, एमडी (स्त्री रोग विशेषज्ञ) के तौर पर बताता था। उसने पीड़ित बुजुर्ग महिलाओं को खुद को विधुर बताता था और कहता था कि उसकी एक बेटी है। वासनिक ने फेसबुक पर एक प्यारी लड़की की फर्जी तस्वीर पोस्ट की हुई थी। पुलिस ने बताया है कि, वासनिक फेसबुक या मेट्रिमोनियल साइट्स पर महिलाओं से दोस्ती करने के बाद उन्हें शादी का झांसा देकर लुभाता था।


बुजुर्ग महिला ने पैसे देने से कर दिया था मना

एलसीबी प्रभारी ने आगे बताया है कि, आरोपी वासनिक ने पीड़ित महिला का विश्वास जीतने के लिए अकोला के एक मेडिकल कॉलेज में एक चिकित्सा अधिकारी के रूप में अपनी फर्जी आईडी की तस्वीरें भी भेजीं और साथ ही 1.44 लाख रुपये की पे स्लिप की भेजी थी। वासनिक महिलाओं के घर जाता था, एक कहानी सुनाता था कि वह आर्थिक तंगी से गुजर रहा है और फिर उनसे पैसे या गहने हड़प लेता था। आरोपी कोठारी की बुजुर्ग महिला को इसी तरह बहला फुसला कर रात भर उसके घर पर ही रुका रहा। महिला से पैसे लेने में मनाने में नाकाम रहने के बाद जब महिला सुबह सैर के लिए निकली तो वासनिक उसका 240 ग्राम गोल्ड लेकर फरार हो गया। फिलहाल पुलिस ने वासनिक को आईपीसी की धारा 380 के तहत गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार के बाद पता चला है कि, वह अब तक कई महिलाओं को अपना शिकार बना चुका है।  



Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.