Saturday, 10 September 2022

अगले साल फिर आना', की गूंज के साथ मुंबई में भक्तों ने दी बप्पा को विदाई, देखें तस्वीरें


Ganesh Chaturthi: दस दिन तक चलने वाला गणेशोत्सव समाप्त होने पर भक्तों ने गणेश भगवान की मूर्ति का विसर्जन गिरगांव चौपाटी, शिवाजी पार्क, बांद्रा, जुहू और मलाड के अलावा 70 प्राकृतिक झीलों में किया.


महाराष्ट्र के मुंबई सहित पूरे देश में 10 दिवसीय गणेशोत्सव (Ganesh Utsav 2022) के शुक्रवार को खत्म होने के साथ ही शहर में विभिन्न जगह स्थापित की गईं भगवान गणेश की मूर्तियों का विसर्जन किया गया.


इस 10 दिवसीय गणेशोत्सव की शुरुआत 31 अगस्त को हुई थी. अनंत चतुर्दशी के मौके पर भगवान गणेश की मूर्तियों को जुलूस निकालते हुए पास के जल निकायों तक ले जाया गया और वहां उन्हें विसर्जित किया गया.


मुंबई और राज्य के अन्य हिस्सों में शुक्रवार को सुबह ‘‘गणपति बप्पा मोरया’’, ‘‘पुढच्या वर्षी लवकर या’’ (अगले साल फिर आना) के नारों की गूंज के बीच श्रद्धालुओं ने जुलूस निकालना शुरू किया. इस दौरान ढोल-नगाड़े बजाए गए और लोग गुलाल उड़ाते भी दिखे.


इस साल गणेशोत्सव का आयोजन कोविड-19 वैश्विक महामारी की विभिन्न पाबंदियों के बिना किया गया, इसलिए विसर्जन में बड़ी संख्या में लोग आए. पिछले दो साल से कोरोना के कारण भक्त गणेशोत्सव पहले की तरह धूमधाम से नहीं मना पर रहे थे.


गणेश भगवान की मूर्ति का विसर्जन गिरगांव चौपाटी (समुद्र तट), शिवाजी पार्क, बांद्रा, जुहू और मलाड के अलावा 70 प्राकृतिक झीलों के साथ-साथ बृहन्मुंबई नगर निगम (BMC) द्वारा बनाए गए कृत्रिम तालाब में किया गया.


गणेश भक्त मुंबई के लालबाग के राजा (गणेश भगवान) को विदाई देने पहुंचे. इस दौरान भक्तों ने नारा लगाया कि ‘‘गणपति बप्पा मोरया’’, ‘‘पुढच्या वर्षी लवकर या’’यानी अगले साल फिर आना.


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.