Tuesday, 20 September 2022

Maharashtra: मुंबई में फैली बच्चा चोरी की अफवाह फैली, ऑडियो क्लिप भी वायरल

देश के कई राज्यों के कई जिलों में बच्चा चोरी होने को लेकर काफी तेजी से अफवाह फैल रही है. मुंबई (Mumbai) भी इस अफवाह से अछूता नहीं रह गया है. अफवाह की वजह से बच्चों में और उनके अभिभावकों में ना चाहते हुए भी डर और फिक्र का माहौल है. इसी अफवाह की वजह से कई माता-पिता अपने बच्चों को अकेले स्कूल भेजने से डर रहे हैं. 


मुंबई के पवई इलाके में स्थित कला विद्या मंदिर स्कूल में पढ़ रहे विद्यार्थियों के अभिभावकों के व्हाट्सअप ग्रुप में मैसेज वायरल हो रहा है कि कुछ लोग यहां से बच्चा चोरी करके ले गए हैं इसलिए सभी अभिभावक बच्चों को लेकर सतर्क रहें.


मुंबई में फैल रही है अफवाहें

मुंबई के कई स्कूलों के नाम से सोशल मीडिया पर व्हाट्सअप के माध्यम से अफवाह फैल रही है की स्कूल के बाहर से बच्चा चोरी की घटनाएं बढ़ी हैं. इतना ही नहीं बाकायदा सोसायटी के लेटर हेड पर लोगों से बातचीत की ऑडियो क्लिप वायरल की जा रही है. 


क्या है वायरल हो रहा बच्चा चोरी की अफवाह का मैसेज?

"प्रिय अभिभावक, विक्रोली पूर्व में हो रहे अपहरण से जुड़ी कुछ चौंकाने वाली खबर हमें मिली है. हमें पता चला है कि विक्रोली पूर्व के 3 बच्चे हैं जिनका हाल ही में अपहरण कर लिया गया और इसको लेकर कई स्कूलों में एनाउंसमेंट भी किया गया. सभी अभिभावकों से हमको अनुरोध है कि अपने-अपने बच्चों का ध्यान रखें और उनको अपने घर से बाहर नहीं निकलने दें.


इस वायरल हुए व्हाट्स एप संदेश में जिस स्कूल का जिक्र है वो स्कूल मुंबई के विक्रोली इलाके में मौजूद है. स्कूल के प्रिंसिपल ने बताया कि स्कूल की तरफ से ऐसा कोई भी मैसेज नही फैलाया गया है और जो मैसेज लोगों के बीच घूम रहा है वो अफवाह है.


अंधेरी में कैसे फैली अफवाह?

व्हाट्सअप पर मैसेज फॉरवर्ड करने की वजह से बच्चा चोरी की अफ़वाह आग की तरह फैल गई और इस संदर्भ में अंधेरी पुलिस को एक शिकायत मिली जिसमें एक अभिभावक ने बताया कि उसके बेटे का अपहरण करने की किसी ने कोशिश की. पुलिस ने मामले की जांच के दौरान पाया कि उसके 11 साल के बेटे ने अपहरण की झूठी बात अपनी मां का बताई थी और उसने अपने बच्चे को जो बताया था वो गलत है.


क्या कर रही है पुलिस?

शहर के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का कहना है कि स्कूल के पास लगे कैमरों को अलर्ट कर दिया गया है कि जो मैसेज यहां पर फैल रहे हैं वहां उनको रोका जाए और लोगों से बातचीत करके उनके अंदर बैठे डर को दूर किया जाए. हालांकि ये पहली बार नहीं है कि जब इन अफवाहों के चलते देशभर के लोगों को परेशानी हुई है या फिर उनके सामने कानून और व्यवस्था की समस्या आई है. 


महाराष्ट्र (Maharashtra) में इन अफवाहों के कारण पहले भी काफी विवाद हो चुका है. पालघर (Palghar) में बच्चा चोरी की अफवाह की वजह से 2 साधुओं की पीट-पीट कर हत्या कर दी गई थी. ड्राइवर समेत तीन लोगों को मौत के घाट उतार दिया गया था. सांगली जिले में कुछ गांव वालों ने साधुओं की पिटाई कर दी. राज्य के कई जिलों में फैल रही ये अफवाह और इससे होने वाली हिंसा कैसे थमेगी फिलहाल इसका कोई भी ठोस हल नजर नहीं आ रहा है. 

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.