Saturday, 24 September 2022

Mumbai: मुंबई एसी लोकल में फिर दुर्घटना, सामान रखने के लिए बना रैक यात्रियों पर टूटकर गिरा

Mumbai : मुंबई में ट्रेन के चलने के दौरान खिड़की के ऊपर लगे मुख्य भारी सामान रखने के रैक के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद एक वातानुकूलित लोकल में यात्री बाल-बाल बच गए. गनीमत रही कि कोई यात्री गंभीर रूप से घायल नहीं हुआ. ट्रेन में सवार एक यात्री संतोष मिश्रा ने कहा कि यह शाम 7.49 बजे चर्चगेट-विरार एसी लोकल थी. पश्चिम रेलवे के एक प्रवक्ता ने कहा कि, "एक ढीली बोल्ट के कारण, विरार जाने वाली एसी लोकल ट्रेन में लगेज का एक रैक गिर गया, जो चर्चगेट से निकली थी. इस मुद्दे पर ध्यान दिया गया है और लगेज रैक को फिर से ठीक कर दिया गया है. इसके अतिरिक्त, सभी एसी लोकल ट्रेनों का निरीक्षण किया गया है और एक ही दोष के लिए पूरी तरह से जांच की गई है.”


कोचों की गुणवत्ता पर उठे सवाल


मुंबई के एसी लोकल ट्रेनों का एक अपेक्षाकृत नया सेट है क्योंकि वे कुछ साल पहले चेन्नई में इंटीग्रल कोच फैक्ट्री द्वारा निर्मित किए गए थे. नई डेक्कन क्वीन के वातानुकूलित सी2 कोच में शौचालय की छत गिरने के बाद इस तरह की यह दूसरी घटना है. वह हादसा ट्रेन चलने के दौरान ही जून में हुआ था. बकौल मिड-डे सार्वजनिक परिवहन पर्यवेक्षक और कार्यकर्ता अक्षय मराठे ने कहा कि "इंटीग्रल कोच फैक्ट्री गुणवत्ता पर ध्यान केंद्रित करने की तुलना में अधिक संख्या में कोचों के निर्माण के रिकॉर्ड को तोड़ने के बारे में अधिक चिंतित है, जिसकी किसी को परवाह नहीं है. यह मात्रा बनाम गुणवत्ता का एक आदर्श मामला है."


शरद पवार ने की थी ये मांग


पिछले हफ्ते, मध्य रेलवे के एसी लोकल उस समय चर्चा में थे जब ठाणे स्टेशन पर एक ट्रेन के दरवाजे नहीं खुले और ट्रेन गार्ड की कथित अनभिज्ञता के कारण यात्रियों को कलवा के कार शेड में ले जाया गया. अगस्त के बाद से, एसी लोकल एक राजनीतिक हथियार बन गया है, जबसे एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने शहर से एसी ट्रेनों की पूरी तरह से वापसी और मध्यम वर्किंग क्लास के यात्रियों के लिए नियमित सेवाओं की बहाली का आह्वान किया है.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.