Wednesday, 28 September 2022

मुंबई में नौकरी करने वाले युवक ने वाराणसी में लगाई फांसी: ट्रामा सेंटर में भर्ती पिता, फंदे से झूला बेटा


लालपुर पांडेपुर थाना अंतर्गत नई बस्ती क्षेत्र में चौरमाता मंदिर समीप अवनीश नामक युवक ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि पिता की तबियत खराब होने पर पंद्रह दिनों पहले अपने घर आया हुआ था। 20 वर्षीय अवनीश यादव मुंबई में नौकरी करता था। मृतक मुख्य रूप से जिला आजमगढ़ ,मेंहनगर का निवासी था।


वाराणसी में नई बस्ती चौरामाता मंदिर समीप एक किराए के मकान में पिता और पुत्र दोनों साथ रहते थे। किसी काम से जब अश्वनी के पिता मुन्ना यादव बाहर गए हुए थे तभी अवनीश ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पिता और किरायेदारों द्वारा जब अश्वनी का दरवाज़ा काफी देर तक पीटने पर नहीं खुला तो मकान मालिक द्वारा पुलिस को सूचना दी गई ।


मौके पर पहुंची पुलिस ने अश्वनी के शव को फंदे से उतार कर जांच पड़ताल में जुट गई है । उधर 20 वर्षीय अवनीश के इस कदम से पिता पूरी तरह से बेसुध हैं। अवनीश चार भाइयों में तीसरे नंबर पर था और हरियाणा की एक प्राइवेट फैक्ट्री में काम करता था। उसके बाद मुंबई से वाराणसी अपने पिता को देखने आया था।


डॉक्टर नंदन प्रसाद पाल के नई बस्ती पांडेयपुर  मकान में आजमगढ़ के विवेक यादव और विजय यादव किराए पर रहते थे।उन्हीं के गांव के अवनीश यादव उम्र 20 वर्ष पुत्र मुन्ना यादव निवासी खजूरी थाना मेहनगर जनपद आजमगढ़ जो मुंबई में रहकर नौकरी करता वह मंगलवार दोपहर में ही आया था।

बताया जा रहा है कि मृतक के पिता की 16 तारीख को दुर्घटना हो गई थी जिसकी वजह से यह ट्रामा सेंटर में भर्ती हैं, अवनीश उन्हें देखने आया था। उसके बड़े भाई अमित यादव कुछ कारण नहीं बता पाए, सम्भवत आर्थिक तंगी के कारण ही अवनीश के आत्महत्या की आशंका जताई जा रही है।


अवनीश यादव के पिता के हाथ में चोट लगी थी जिनका उपचार बनारस में हो रहा था। इसी कारण अवनीश रुकने के लिए विवेक यादव व विजय यादव के कमरे पर आया था। शाम को अवनीश ने कमरे का दरवाजा अंदर से बंद कर लिया, विवेक ने संदेह होने पर सीढ़ी लगाकर रोशनदान से देखा गया तो अवनीश यादव फांसी पर लटका था। सूचना पर पहड़िया चौकी प्रभारी प्रकाश चौहान मौके पर पहुंचे और फील्ड यूनिट को बुलाया गया है। मौके पर एसीपी सारनाथ अमित श्रीवास्तव और लालपुर थाना प्रभारी उपेंद्र सिंह भी मौजूद। 

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.