Thursday, 8 September 2022

Mumbai : मुंबई में अब एक कब्र पर शुरू हुई राजनीति, बीजेपी नेता ने लगाया यह आरोप, जानिए क्या है पूरा मामला

मुंबई: महाराष्ट्र (Maharshtra) की राजधानी मुंबई (Mumbai) में नया बवाल शुरू हो गया है. बवाल एक कब्र को लेकर है जिसे मजार की शक्ल दी जा रही है. कब्र है 1993 ब्लास्ट (Mumbai Serial Blast) के गुनहगार और दाऊद गैंग (Daud Ibrahim) के गुर्गे याकूब मेमन (Yakub Memon) की. लेकिन अब इस कब्र की साज सज्जा को लेकर विवाद शुरू हो गया है.बीजेपी (BJP) ने सवाल खड़े करते हुए कहा है कि आखिर कब्र को मजार की शक्ल क्यों दी जा रही है. 


मुंबई धमाकों में कितने लोग मारे गए थे


12 मार्च 1993 को अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के इशारे पर मुंबई में सीरियल बम धमाके किए गए थे. इन धमाकों में 257 लोगों की मौत हो गई थी और 700 लोग घायल हो गए थे. इस मामले में याकूब मेमन को दोषी ठहराया गया था. उसे 2015 में फांसी की सजा दी गई थी.उसे 30 जुलाई 2015 को दक्षिण मुंबई के बड़ा कब्रिस्तान में दफनाया गया था. 


याकूब इस मामले का इकलौता दोषी था, जिसे फांसी की सजा दी गई थी.अब उसी याकूब मेनन की कब्र को मजार में तब्दील करने की कोशिश होने लगी है. आमतौर पर किसी कब्र की खुदाई 18 महीने बाद कर दी जाती है लेकिन याकूब के कब्र की खुदाई 5 साल बाद भी नहीं हुई है.


याकूब मेनन के भाई ने क्या आरोप लगाए हैं


याकूब की कब्र को लेकर पहले भी सवाल उठते रहे हैं.याकूब के चचेरे भाई मोहम्मद अब्दुल रऊफ मेमन ने एलटी मार्ग पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी.उसने आरोप लगाया गया था कि ट्रस्टियों के कब्रिस्तान ने याकूब मेमन की कब्रगाह को पांच लाख रुपये में बेच दिया है.


इस मामले पर राजनीति भी शुरू हो गई.बीजेपी नेता राम कदम ने आरोप लगाया है कि उद्धव ठाकरे के सीएम रहते याकूब मेमन की कब्र, मजार में तब्दील हो गई. बीजेपी नेता ने कहा कि इसके लिए उद्धव ठाकरे, शरद पवार और राहुल गांधी को मुंबई की जनता से माफी मांगनी चाहिए.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.