Monday, 19 September 2022

विदेशों से मंगवाकर मादक पदार्थ नामी कॉलेजों में करते थे सप्लाई, पुलिस ने गिरोह का किया पर्दाफाश

नोएडा (Noida) समेत देश के विभिन्न शहरों में कॉलेज के छात्र-छात्राओं को मादक पदार्थों की बिक्री करने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश हुआ है. जिसके तार कई विदेशी शहरों से जुड़े बताए जा रहे हैं. पुलिस (Noida Police) ने मामले में तीन छात्रों को गिरफ्तार भी किया है. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आरोपी कैलिफोर्निया (अमेरिकी), बर्लिन (जर्मनी) और कई अन्य विदेशी शहरों से मादक पदार्थ मंगवाते थे और उसे नोएडा, ग्रेटर नोएडा, दिल्ली, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर), मुंबई सहित देश के विभिन्न हिस्सों में नामी कॉलेज के छात्र-छात्राओं तक पहुंचाते थे. पुलिस ने दिल्ली के एक नामी कॉलेज में पढ़ने वाले फरीदाबाद के तीन छात्रों को रविवार को मामले में गिरफ्तार भी किया.


क्या है पूरा मामला? 

पुलिस उपायुक्त (जोन तृतीय) अभिषेक वर्मा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों की पहचान भानु, अधिराज और सोनू कुमार के तौर पर हुई है. उन्होंने बताया कि उनके पास से ‘ओरिजिनल ग्रोवर कैलिफोर्निया वीड’ (ओजी), एमडीएमए एक्स्टी, एलएसडी सहित कुल 960 ग्राम मादक पदार्थ, एक छोटा इलेक्ट्रॉनिक तराजू, पाउडर बनाने की मशीन आदि बरामद हुई है. बरामद मादक पदार्थ की कीमत 29 लाख रुपये आंकी गई है. 


पूछताछ के दौरान पुलिस को पता चला कि ये लोग ‘टेलीग्राम’ ऐप के जरिए कैलिफोर्निया, बर्लिन आदि विदेशी शहरों से मादक पदार्थ मंगवाते थे और भारत में इसकी आपूर्ति कर रहे थे. मादक पदार्थ ‘डार्क वेब’ (गैरकानूनी काम के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले वेब) के माध्यम से मंगवाए जाते थे. इसके लिए क्रिप्टो करेंसी के माध्यम से भी लेनदेन किया जाता था.



आरोपियों की गिरफ्तारी की गई 

पुलिस उपायुक्त (जोन तृतीय) अभिषेक वर्मा ने आगे बताया कि जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि आरोपी देश के विभिन्न नामी कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं तक मादक पदार्थ पहुंचाते थे. उन्होंने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिसकर्मी उनके ‘ऑनलाइन ग्रुप’ का हिस्सा बने और उनसे मादक पदार्थ मंगवाया. उनके मादक पदार्थ देने ग्रेटर नोएडा आने पर उनकी गिरफ्तारी की गई.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.