Monday, 12 September 2022

1000 करोड़ की हेराफेरी करने वाले बिशप के आतंकी कनेक्शन! EOW ने हिरासत में लिया


मध्य प्रदेश के जबलपुर के द बोर्ड ऑफ एजुकेशन चर्च ऑफ नॉर्थ इंडिया के मॉडरेटर रहे बिशप पीसी सिंह को छात्रों की स्कूल फीस में से 1000 करोड़ की हेर-फेर और अन्य असंवैधानिक गतिविधियों के आरोप में ईओडब्ल्यू ने हिरासत में ले लिया है. सूत्रों के मुताबिक जर्मनी से लौटते ही नागपुर एयरपोर्ट से ईओडब्ल्यू की टीम ने पीसी सिंह को हिरासत में ले लिया. अब सिंह से पूछताछ की जा रही है. वही पीसी सिंह का अंडरवर्ल्ड कनेक्शन भी सामने आया है. इसी के साथ चर्च के मौजूदा मॉडरेटर डीजी भांबल ने PM नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर पीसी सिंह के खिलाफ CBI या ED से जांच कराने की मांग भी की थी.


जानकारी के अनुसार बिशप डॉन दाऊद इब्राहिम के राइट रियाज भाटी का करीबी है. बिशप ने 2017 में मिशनरी की मुंबई स्थित जिमखाना की जमीन का सौदा रियाज भाटी से 3 करोड़ रुपए में किया था. बताया जा रहा है कि मुंबई पुलिस ने सौदे का एग्रीमेंट रियाज भाटी के पास से जब्त किया है.


रियाज से किया था जिमखाना की जमीन का सौदा

सूत्रों की मानें तो बिशप पीसी सिंह ने धर्मांतरण के बाद ईसाई धर्म अपनाया था. मुंबई में जॉन विल्सन कॉलेज एंड सोसायटी के नजदीक की जमीन पर चर्च ऑफ नॉर्थ इंडिया सीएनआई ने जिमखाना बना हुआ है. सीएनआई सीनेट में बिशप पीसी सिंह भी मेंबर थे. इस दौरान उन्होंने रियाज भाटी से उस जमीन का सौदा किया था. इस बीच मुंबई पुलिस ने रियाज भाटी को गिरफ्तार किया और पूछताछ की तो उस सौदे का एग्रीमेंट मिला था. जिसे पीसी सिंह ने फर्जी करार दिया था.


31 जुलाई को ट्रस्ट ने कर दिया था निलंबित

9 जुलाई को UCNI चर्च यूनियन फाउंडर मिशन ट्रस्टी बोर्ड की मीटिंग बुलाकर उन्हें निलंबित करने का निर्णय लिया गया था. यह कार्रवाई चर्च में धार्मिक कार्य और चर्च की संपत्तियों की सुरक्षा के लिए किया गया. इसके बाद 31 जुलाई को ट्रस्ट की आम सभा की मीटिंग बुलाकर उन्हें निलंबित कर दिया गया.


जानकारी के मुताबिक बिशप पीसी सिंह और उनके साथियों पर 107 मामले दर्ज है. करीब 35 केस में बिशप पीसी सिंह नामजद आरोपी है. उत्तरप्रदेश, पंजाब, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में केस दर्ज हैं.


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.