Wednesday, 14 September 2022

Mumbai: 23 साल के लड़के से मोबाइल लूटने के आरोप में चार गिरफ्तार, UPI पिन देने के लिए किया मजबूर

Mumbai: मुंबई पुलिस ने एक गिरोह को पकड़ा है, जिस पर एक 23 साल के शख्स का मोबाइल फोन और कैश लूटने का आरोप है। इतना ही नहीं गिरोह ने पीड़ित के साथ मारपीट कर उसके यूपीआई वॉलेट पिन शेयर करने तक का दबाव बनाया। पीड़ित मुंबई में एक इंटरव्यू देने के लिए आया था, लेकिन बीते दिनों चार बदमाशों ने उसे पकड़कर लूटपाट की थी। घटना के छः दिन बाद पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। 


पीड़िता की पहचान आसिफ खटीक के तौर पर हुई है। वहीं 8 सितंबर की सुबह करीब 10 बजे अपने रिश्तेदार से मिलने के लिए भांडुप में एलबीएस रोड पर इंतजार कर रहा था। इस दौरान चार लोगों ने उसे घेर लिया और उसे कॉम्प्लेक्स के बगल में एक खाली मैदान में खींचकर ले गए, जहां उन्होंने उसके साथ मारपीट की और उसका बटुआ और फोन ले लिया।


रेस्तरां में लगे सीसीटीवी में हुई एक आरोपी की पहचान 

भांडुप थाने के पुलिस उपनिरीक्षक अभिजीत टेकावड़े ने कहा है कि लुटेरों में से एक ने खटीक के मोबाइल फोन को अनलॉक किया और उसमें यूपीआई ऐप देखा, इसके बाद आरोपियों ने उसके साथ और मारपीट की और उसे यूपीआई पिन बताने के लिए मजबूर किया। खटीक ने पुलिस को बताया कि आरोपी ने पहले उससे मौके पर ही पैसे ट्रांसफर करने को कहा, लेकिन उसने मना कर दिया। हालांकि फिर पीड़ित को बदमाशों ने यह कहते हुए वहीं छोड़ दिया कि उन्हें वह मिल गया है जिसके लिए वे आए थे। वहीं पुलिस ने बताया है कि घटनास्थल के पास मौजूद रेस्तरां में लगे एक कैमरे में एक आरोपी की पहचान हो गई थी। 


पुलिस ने ऐसे किया सभी आरोपियों को गिरफ्तार

जांच के दौरान, यह पाया गया कि संदिग्ध नशा करने वालों के एक गिरोह का हिस्सा था जो अक्सर सोनापुर पाइपलाइन पर इकट्ठा होता था। पुलिस ने नौ सितंबर को 30 वर्षीय सद्दाम हुसैन शेख को सोनापुर से गिरफ्तार किया था। पूछताछ के बाद, उसके दो साथी - इरफ़ान खान (26) और स्वप्निल तिवारी (22) का नाम बताया, जिन्हें पुलिस ने उसी दिन पवई में चांद शाह वाली दरगाह के पास से गिरफ्तार किया गया था। वहीं चौथे (29) आरोपी शाहरुख शेख को सोमवार को गिरफ्तार किया गया था। खटीक का फोन इरफान के पास से बरामद हुआ है। उसे लूटने के बाद चार भांडुप में एक शराब की दुकान में गए। फिर उन्होंने बाकि की करीब 4,000 रुपये शराब की दुकान के मालिक के खाते में ट्रांसफर कर दी और उससे नकद ले लिया। पुलिस ने शराब की दुकान के मालिक को पैसे वापस लेने के लिए नोटिस जारी किया है।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.