Tuesday, 2 August 2022

Mumbai : मुंबई में सीनियर सिटिजन को ठगने वाला ऐसे चढ़ा पुलिस के हत्थे, ऐसे लोगों को बनाता था अपना टारगेट

Mumbai : एटीएम कार्ड बदलकर सीनियर सिटिजन को ठगने वाले एक शख्स को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी उन सीनियर सिटिजन्स को अपना शिकार बनाता था जो एटीएम मशीन से पैसे निकालने में असमर्थ रहते थे। ऐसे में आरोपी सीनियर सिटिजन का भरोसा जीतकर उनके पैसे नकालने में मदद करने का बहाना करता था और फिर उनके बैंक अकाउंट से पैसे निकाल लेता था। आरोपी की पहचान विवेक वर्मा के तौर पर हुई है। 


पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, भरोसा होने के बाद सीनियर सिटिजन अपने एटीएम कार्ड्स विवेक वर्मा को दे देते थे। उसके पास पहले से निष्क्रिय कार्ड होते थे, जिन्हें मशीन में डालकर वह नागरिकों को बोल देता था कि, मशीन में पैसे नहीं है और किसी और एटीएम पर भेज देता था। इसके बाद पीड़ितों के पास मैसेज आता था कि उनके अकाउंट से पैसे कट गए हैं। 


आरोपी इस तरह रखता था अपने टारगेट पर नजर

बोरीवली गवर्मेंट रेलवे पुलिस जीआरपी अधिकारियों ने विवेक वर्मा को गिरफ्तार किया और उसकी जेब से अलग-अलग बैंकों के 37 एटीएम कार्ड बरामद किए। वह रेलवे स्टेशनों के बाहर एटीएम के पास घूमता था, सीनियर सिटिजन को ढूंढकर अपना शिकार बनाताा था, जो पैसे निकालने में असमर्थ रहते थे। बोरीवली (जीआरपी) के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक अनिल कांबले के अनुसार, अपने टारगेट का पता लगाने के बाद, वह उनके पीछे खड़ा होता और कई हथकंडे अपनाता जैसे कि ट्रेन पकड़ने के लिए देर से आने का नाटक करता था। उन्हें पैसे तेजी से निकालने के लिए कहता था।


पीड़ितों के साथ बहाने बनाकर करता था ठगी

तीन महीने पहले, एक पीड़िता लक्ष्मी भोसले (64) ने बोरीवली स्टेशन के बाहर एटीएम केंद्र में एक शख्स से मदद की मांगी। 10 मिनट बाद उनके बैंक खाते से 40,000 रुपये निकालने का मैसेज आया। इसके बाद उन्होंने जीआरपी से संपर्क किया। महिला ने जीआरपी अधिकारियों को बताया कि, उसके पीछे खड़ा एक शख्स उसे पैसे निकालने के लिए जल्दी मचा रहा था और कह रहा था कि उसकी ट्रेन छूट जाएगी। इसके बाद उसने महिला की मदद करने का बहाना किया और फिर उसे एटीएम मशीन में पैसे न होने का नाटक कर किसी और मशीन पर भेज किया। उसके साथ आरोपी विवेक वर्मा ने 40 हजार रुपये की ठगी की। 


जीआरपी ने ऐसे किया गिरफ्तार

इसके बाद पुलिस ने एटीएम के सीसीटीवी को खंगाला और आरोपी को देखा। अनिल कांबले ने कहा, 'हम रेलवे स्टेशनों के पास सभी एटीएम पर नजर रख रहे थे। शनिवार को, हमने उसी एटीएम सेंटर के आसपास आदमी को घूमते हुए पाया। इसके बाद हमने विवेक वर्मा को रोका और गिरफ्तार कर लिया। उसकी तलाशी लेने पर हमें 37 निष्क्रिय एटीएम कार्ड मिले।' पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया है कि आरोपी विवेक वर्मा के खिलाफ पहले से जीआरपी और मुंबई पुलिस में कई मामलों में नाम है।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.