Saturday, 13 August 2022

Mumbai: पड़ोसी ही बना बुजुर्ग की जान का दुश्मन, इस बात पर हुआ नाराज, उतार दिया मौत के घाट

Mumbai: मुंबई में एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है। यहां एक पड़ोसी ने अपने पड़ोसी को मौत के घाट उतार दिया है। मामला मुंबई के भिवंडी का है, जहां 33 साल के एक शख्स ने 65 साल के बुजुर्ग पड़ोसी की हत्या कर दी है। भिवंडी की शांति नगर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया है कि हत्या के आरोपी और मृतक के बीच लंबे समय से लड़ाई चल रही थी। दोनों एक ही मिल कंपाउंड के मेजेनाइन फ्लोर पर रहते थे। 


मृतक की पहचान भिवंडी के खान कंपाउंड निवासी इकबाल अहमद साकिब अंसारी के रूप में हुई है। उसकी पत्नी की पांच साल पहले मृत्यु हो गई थी और उसके दो बेटे शादीशुदा हैं। वे उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद में रहते हैं। पुलिस ने बताया है कि पत्नी की मौत के बाद अहमद साकिब अंसारी डिप्रेशन में चले गए थे। 


आरोपी दिहाड़ी मजदूर

आरोपी शेरबहादुर सिंह (33) एक शराबी है जो पावरलूम में दिहाड़ी पर काम करता है। वह पांच महीने पहले अहमद के घर बिजली के करघे में सोता था लेकिन अहमद उसे पसंद नहीं करता था और अक्सर जगह शेयर करने को लेकर दोनों के बीच बहस हो जाती थी। पुलिस ने कहा कि जांच के दौरान उन्हें पता चला कि शेरबहादुर सिंह हत्या करने के बाद से लापता था और उस पर शक हुआ। उसकी तलाश के लिए पुलिस की एक टीम गठित की गई थी। पुलिस ने शेरबहादुर सिंह के बारे में विश्वसनीय मुखबिरों को भी सतर्क किया। आरोपी मोबाइल फोन का इस्तेमाल नहीं कर रहा था, जिससे उसे ट्रैक करना मुश्किल हो रहा था। 


अहमद करता था आरोपी को परेशान

शांति नगर पुलिस स्टेशन के पुलिस उप-निरीक्षक नीलेश जाधव ने मामले को लेकर कहा है कि हमें गुरुवार को सूचना मिली कि शेरबहादुर सिंह भिवंडी के जब्बार कंपाउंड में एक पावरलूम यूनिट में छिपा हुआ है। हम मौके पर पहुंचे और उसे पकड़ लिया। पूछताछ के दौरान उसने खुलासा किया कि उसने अपराध इसलिए किया क्योंकि उसे अंसारी पर शक था कि उसने उसका मोबाइल और घड़ी चुरा लिया है। नीलेश जाधव ने आगे कहा कि अहमद करघे में सोने के लिए जगह शेयर करने को लेकर उसे परेशान करता था। घटना वाले दिन शेरबहादुर सिंह शराब के नशे में पावरलूम पर आया और करीब 1.30 बजे सो गया। तब तक अहमद भी सो चुका था। अंसारी ने उसे अपनी जगह पर सोने के लिए लात मारी। इससे गुस्साए शेरबहादुर सिंह ने बिजली करघे से नीचे उतरकर 20-25 किलो वजन का पत्थर लिया और अंसारी के चेहरे पर वार कर दिया। फिर वह करघे के पिछले दरवाजे से भाग गया, जहां सीसीटीवी कैमरे नहीं थे।





Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.