Friday, 12 August 2022

महाराष्ट्र में कहीं मंत्री तो कहीं IAS अधिकारी फहराएंगे तिरंगा, राज्य सरकार ने जारी किया ये प्लान

Maharashtra : महाराष्ट्र (Maharashtra) में संबंधित जिलों में अभी तक कोई पोर्टफोलियो आवंटन और अभिभावक मंत्रियों की नियुक्ति नहीं होने के कारण, राज्य सरकार ने गुरुवार को उन मंत्रियों के नामकरण के आदेश जारी किए जो आगामी 15 अगस्त को 19 जिलों में ध्वजारोहण समारोह आयोजित करेंगे. शेष 16 जिलों में जिला कलेक्टर तिरंगा फहराएंगे. मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे सुबह 9.05 बजे मंत्रालय में राज्य मुख्यालय पर झंडा फहराएंगे. सरकारी आदेश के मुताबिक उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस नागपुर में झंडा फहराएंगे.


हाल ही में महाराष्ट्र में हुआ है कैबिनेट विस्तार


बता दें कि 9 अगस्त को, 40 दिनों से अधिक की देरी के बाद, महाराष्ट्र मंत्रिमंडल का विस्तार किया गया और 18 मंत्रियों ने शपथ ली. इनमें से नौ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के हैं और नौ शिंदे के नेतृत्व वाले विद्रोही शिवसेना खेमे से हैं. विभागों के वितरण में देरी और जिलों में संरक्षक मंत्रियों को नामित करने का कोई आधिकारिक आदेश नहीं होने के कारण, राज्य प्रशासन को अपने-अपने जिलों में मंत्रियों की नियुक्ति के आदेश जारी करने पड़े. बीजेपी के सुधीर मुनगंटीवार और चंद्रकांत पाटिल चंद्रपुर और पुणे जिला मुख्यालयों पर झंडा फहराएंगे. मंगल प्रभात लोढ़ा मुंबई उपनगर में झंडा फहराएंगे जबकि रवींद्र चव्हाण ठाणे में स्वतंत्रता दिवस पर औपचारिक ध्वजारोहण की अध्यक्षता करेंगे.


इस तरह से मंत्रियों को मिले जिले


राधाकृष्ण विखे-पाटिल और गिरीश महाजन क्रमशः अहमदनगर और नासिक जिलों में स्वतंत्रता दिवस समारोह में भाग लेंगे. अतुल सावे, सुरेश खाड़े और विजयकुमार गावित परभणी, सांगली और नंदुरबार जिलों में ध्वजारोहण समारोह की अध्यक्षता करेंगे. शिंदे खेमे से दादाजी भुसे, गुलाबराव पाटिल और दीपक केसरकर क्रमशः धुले, जलगांव और सिंधुदुर्ग में स्वतंत्रता दिवस समारोह में शामिल होंगे. उदय सामंत, संदीपन भुमरे और तानाजी सावंत रत्नागिरी, औरंगाबाद और उस्मानाबाद जिलों में तिरंगा फहराएंगे. शंभूराज देसाई, संजय राठौड़ और अब्दुल सत्तार क्रमश: सतारा, यवतमाल और जालना जिलों में झंडा फहराएंगे. अमरावती में मंडलायुक्त को झंडा फहराने का दायित्व सौंपा गया है जबकि 15 अन्य जिलों में जिला कलेक्टर तिरंगा फहराएंगे. विपक्ष ने राज्य सरकार के आदेशों को 'कुशासन' का उदाहरण बताते हुए उसकी खिंचाई की.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.