Thursday, 25 August 2022

शिवसेना के प्रतिद्वंद्वी गुटों ने विधान भवन परिसर में एक दूसरे पर निशाना साधा

मुंबई: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना के विधायकों ने बृहस्पतिवार को यहां विधान भवन की सीढ़ियों पर पूर्व मंत्री आदित्य ठाकरे के खिलाफ बैनर दिखाते हुए उन पर निशाना साधा। आदित्य ठाकरे ने उनके जवाब में नारा लगाया जिसका मतलब था कि शिंदे खेमे के विधायकों को धन देकर पाला बदलवाया गया जिसकी वजह से उद्धव ठाकरे नीत सरकार गिर गयी। शिंदे गुट के विधायकों के हाथों में बैनर थे जिन पर लिखा था, ‘‘युवराज रास्ता भटके’’।


इन दिनों राज्य विधानसभा का सत्र चल रहा है। विधायक भरत गोगोवले ने संवाददाताओं से कहा कि अगर शिंदे गुट के विधायकों को बार-बार निशाना बनाया जाता है तो वे हाथ बांधकर नहीं बैठने वाले। उन्होंने कहा, ‘‘हम जवाब देंगे’’। दूसरी तरफ आदित्य ठाकरे और कांग्रेस तथा राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के कुछ विधायकों ने नारे लगाते हुए कहा कि महाराष्ट्र में वर्षा से फसलों को हुई तबाही को देखते हुए ‘वर्षा जनित सूखा’ घोषित किया जाए और बाढ़ के कारण फसलों का नुकसान उठाने वाले किसानों को राहत दी जाए।


आदित्य ठाकरे को नारे लगाते भी देखा गया कि 50 विधायकों को उनके पिता उद्धव ठाकरे की अगुवाई वाली शिवसेना के खिलाफ विद्रोह के लिए धन मिला। आदित्य बुधवार को विधान भवन परिसर में सत्तारूढ़ और विपक्षी विधायकों के बीच हुई धक्कामुक्की का भी जिक्र कर रहे थे। वह अपनी पार्टी के विधायकों के विद्रोह के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं का समर्थन आधार मजबूत करने के लिए राज्य का दौरा कर रहे हैं।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.