Monday, 1 August 2022

'बंदूक का बंदूक से देना चाहिए जवाब', हिंसा के प्रति जीरो टॉलरेंस पर बोले तमिलनाडु के राज्यपाल

Tamil Nadu: तमिलनाडु के राज्यपाल आरएन रवि ने रविवार को कोच्चि में एक कार्यक्रम में हिंसा के लिए तमिलनाडु सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति की वकालत की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पिछले 8 सालों में किसी भी सशस्त्र समूह के साथ एक भी बातचीत नहीं की है, जब तक कि वह सरेंडर नहीं करते। 


तमिलनाडु सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति की राज्यपाल ने की वकालत


उन्होंने कहा कि हिंसा के प्रति जीरो टॉलरेंस। जो कोई भी बंदूक का इस्तेमाल करता है उसे बंदूक से निपटा जाना चाहिए। देश की एकता और अखंडता के खिलाफ बात करने वाले किसी से कोई बातचीत नहीं। पिछले 8 सालों में किसी सशस्त्र समूह के साथ कोई बातचीत नहीं, सरेंडर होने पर ही बातचीत।


बंदूक का इस्तेमाल करने वाले के साथ बंदूक से निपटा जाएगा- राज्यपाल


नगालैंड के पूर्व राज्यपाल रहे आरएन रवि ने कहा कि जो कोई भी बंदूक का इस्तेमाल करेगा उसके साथ बंदूक से निपटा जाएगा। 26/11 के मुंबई आतंकवादी हमले के समय कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए तमिलनाडु के राज्यपाल ने कहा कि जब 26/11 मुंबई आतंकवादी हमला हुआ, तो पूरा देश सदमे में था। मुट्ठी भर आतंकवादियों द्वारा देश को अपमानित किया गया था। हमले के 9 महीनों के अंदर हमारे तत्कालीन पीएम और पाक पीएम ने एक संयुक्त विज्ञप्ति पर हस्ताक्षर किए, जिसमें कहा गया था कि दोनों देश आतंकवाद के शिकार हैं। ये क्या है? ये साफ होना चाहिए कि पाकिस्तान दोस्त है या दुश्मन।


साथ ही कहा कि पुलवामा हमले के बाद हमने वायु शक्ति का उपयोग करके बालाकोट में पाकिस्तान पर पलटवार किया। संदेश ये था कि अगर आप आतंकवाद का काम करते हैं तो आपको इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी। 


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.