Monday, 8 August 2022

मदरसे में पिटाई से थे परेशान तो भाग निकले छात्र, यूं पहुंचाई पुलिस तक बात, टीचर्स पर केस

Mumbai : छात्र और गुरू का रिश्ता बेहद खास होता है। एक गुरू अपने छात्र को समाज की अच्छाई और बुराई से रूबरू करवाता है। इंसान अपने अंदर कई सारी चीजों अपने गुरू की दी हुई अपानता है, जिसका वह जिंदगी भर इस्तेमाल करता है, लेकिन क्या हो अगर गुरू ही छात्र को परेशान करने पर तुल जाए तो, ऐसा ही एक मामला मुंबई में सामने आया है, जहां पुलिस ने एक मदसरे के दो शिक्षकों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।


यह निर्दयी शिक्षक ज्ञान की बातें छोड़ छात्रों को हर वक्त पीटते रहते थे। जिससे छात्रों को काफी उत्पीड़न का सामना करना पड़ा रहा था। इन शिक्षकों का पर्दाफाश तब हुआ जब कुछ अज्ञात लोगों ने पीड़ित छात्रों की बातों को सुना। छात्र मदसरे से भाग कर बिहार एक ट्रेन में जा रहे थे। इसके बाद अज्ञात लोगों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई।


इस तरह हुआ घटना का खुलासा 

मामला मुंबई के ठाणे पुलिस थाने का है। पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया है कि, रविवार को ठाणे जिले के कलवा में एक मदरसे के दो शिक्षकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पुलिस अधिकारी ने कहा है कि, पांच छात्र कलवा के मदरसे से कथित रूप से पिटाई के बाद वहां से भाग गए थे और शुक्रवार को एक ट्रेन में सवार होकर बिहार जाने लगे थे। इस दौरान इसके आस-पास मौजूद यात्री उन पीड़ित बच्चों की बातें सुन रहे थे। इसके बाद यात्रियों ने मिलकर डोंबिवली रेलवे पुलिस को फोन किया और बच्चों के साथ हुए प्रताड़ना के बारे में बताया।


फिलहाल पीड़ित छात्र चाइल्ड केयर सेंटर में रह रहे हैं

इसके बाद छात्रों की ओर से मिली जानकारी के आधार पर डोंबिवली रेलवे पुलिस द्वारा कलवा के मदरसे के दो शिक्षकों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया और फिर इसे ठाणे पुलिस को ट्रांसफर कर दिया गया क्योंकि मदरसा उनके अधिकार क्षेत्र का हिस्सा नहीं था। ठाणे पुलिस के पास मामला आने के बाद पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। फिलहाल पुलिस द्वारा मदरसे के पीड़ित पांच छात्रों को उल्हासनगर के चाइल्ड केयर सेंटर में रखा गया है और पुलिस मामले की हर पहलू से जांच कर रही है। 

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.