Friday, 12 August 2022

मुंबई जाने के लिए निकली थीं तीन स्कूली छात्राएं, अजनबी ले गया रोहिणी, किया रेप

नई दिल्लीः दिल्‍ली में तीन नाबालिग लड़कियों के साथ रेप का सनसनीखेज मामला सामने आया है। ये सभी एक ही सरकारी स्कूल में छात्रा हैं। तीनों मुंबई जाने के लिए घर से निकली थीं। नई दिल्‍ली रेलवे स्‍टेशन पर दो अजनबी टिकट बुक कराने के बहाने इन्हें रोहिणी ले गए। इनमें से एक आरोपी ने तीनों के साथ बारी-बारी रेप किया। पीड़ितों की उम्र 15, 15 और 14 साल है। इनकी किडनैपिंग की रिपोर्ट साउथ दिल्ली के डिफेंस कॉलोनी थाने में दर्ज थी। इसलिए यहां की पुलिस ने रोहिणी में छापा मारकर मानव तस्करी गैंग से जुड़े आरोपी बेगमपुर निवासी बंगाली लाल शर्मा (45), संदीप उर्फ शैंकी (36), कुतुबगढ़ की रुकसाना (36) और बेगमपुर की ज्योति (19) को गिरफ्तार कर लिया। जबकि प्रकाश उर्फ संजय अभी फरार है।

डीसीपी (साउथ) बेनीता मेरी जयकर ने बताया कि 6 अगस्त को मस्जिद मोठ निवासी शख्स ने डिफेंस कॉलोनी थाने में शिकायत दी। उन्होंने बताया कि उनकी बेटी सुबह 7:30 बजे एंड्रयूज गंज स्थित सरकारी स्कूल के लिए निकली थी। दोपहर करीब 2 बजे वैन ड्राइवर ने बताया कि उनकी लड़की स्कूल से वैन में नहीं आई। तफ्तीश में पता चला कि लड़की की क्लास में पढ़ने वाली दो अन्य लड़कियां भी स्कूल से गायब हैं। पुलिस ने किडनैपिंग का केस दर्ज कर लिया। आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली। परिजनों और क्लास में पढ़ने वाली लड़कियों से पूछताछ की।


इस दौरान लड़कियों के करोल बाग में होने की खबर मिली। तीनों को वहां से बरामद कर लिया गया, जिनका मेडिकल कराया गया। इनके साथ रेप होने की पुष्टि हुई। पुलिस सूत्रों ने बताया कि पीड़ित लड़कियों ने खुलासा किया वे मुंबई जाने के लिए 6 अगस्त को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के लिए गई थीं। वहां से एक अजनबी उन्हें रोहिणी स्थित एक फ्लैट में ले गया, जहां नशीली चीज पिलाने के बाद रेप किया गया। पुलिस ने रोहिणी स्थित फ्लैट में छापा मारकर बंगाली लाल शर्मा को अरेस्ट कर लिया। इससे पूछताछ में खुलासा हुआ कि वो रुकसाना के साथ लड़कियां बेचने का काम करता है।

इस बीच, दिल्‍ली महिला आयोग ने एसएचओ डिफेंस कॉलोनी को नोटिस भेजा है। आयोग ने एफआईआर की कॉपी और आरोपियों की गिरफ्तारी की जानकारी मांगी है। इस मामले में एक्‍शन रिपोर्ट 14 अगस्‍त तक सौंपने के लिए कहा है।


चंडीगढ़ ले जा रहा था बेचने

लड़कियों के बयान के मुताबिक, बंगाली और प्रकाश उर्फ संजय उर्फ मिंटू तीनों लड़कियों को रोहिणी ले गए थे। वहां तीनों को नशीली चीज पिलाई और प्रकाश ने तीनों का रेप किया। इसके बाद प्रकाश तीनों लड़कियों को बेचने के लिए चंडीगढ़ ले जा रहा था तो वो तीनों फरार होने में कामयाब हो गईं। ऑटो से करोल बाग पहुंच गईं। पुलिस ने किडनैपिंग, रेप, नशीली चीज देने, आपराधिक साजिश और जान से मारने की धमकी देने समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया। इसके बाद आरोपियों की गिरफ्तारी की। जिस कमरे में रेप हुआ था, आरोपी महिलाएं उस वक्त वहीं थीं। पुलिस को इस गैंग के और मेंबरों की तलाश है। पुलिस पता कर रही है कि अब तक इस गैंग ने कितनी मासूम लड़कियों को बेचा है।


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.