Friday, 26 August 2022

मुंबई पुलिस कंट्रोल को फिर आया मैसेज, 26/11 जैसे हमले से सतर्क रहने की दी सलाह, जांच शुरू


मुंबई: मुंबई पुलिस (Mumbai Police) के ट्रैफिक कंट्रोल रूम में दोबारा एक नया मैसेज आया है। हालांकि इस बार धमकी नहीं बल्कि सतर्क रहने वाला संदेश भेजा गया है। संदेश में कहा गया है कि सोमालिया में कुछ दिनों पहले 26/11 जैसा ही हमला हुआ था। ऐसा ही हमला (26/11 Terrorist Attack) मुंबई और भारत में दोबारा ना हो। इस बात का ख्याल रखा जाए। संदेश भेजने वाले अज्ञात शख्स की तलाश मुंबई की तरफ से की जा रही है। बता दें कि यह मैसेज भी एक विदेशी नंबर से भेजा गया है। पुलिस इस बात की जांच में जुटी है कि आखिर यह शख्स कौन है और उसने यह मैसेज अब क्यों किया है?


कुछ दिन पहले आयी थी धमकी

कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान के कोड वाले मोबाइल नंबर से शुक्रवार रात एक वॉट्सऐप मेसेज भेजकर मुंबई में 26/11 जैसा हमला करने की धमकी दी गई थी। इसके बाद मुंबई पुलिस ने मुंबई में हाई अलर्ट कर दिया है। पुलिस को मिले इस मेसेज में कहा गया था कि छह लोग भारत में हैं, जो इस काम को अंजाम देंगे। इस धमकी के बाद मुंबई पुलिस हाई अलर्ट हो गई है। सुरक्षा एजेंसियों को भी अलर्ट किया गया।


प्रॉक्सी नंबर का शक

मुंबई पुलिस को लगता है कि यह प्रॉक्सी नंबर है। पुलिस ने इस ऐंगल से जांच शुरू की है कि इस नंबर को किस इंटरनेट से यूज किया गया है। चूंकि धमकी देने वाले वाले ने वॉट्सऐप मेसेज में भारत में अपने छह साथी होने का दावा करते हुए उनके नंबर भी पुलिस को भेजे, इसलिए भी पुलिस को यह प्रॉक्सी नंबर ही लग रहा है, क्योंकि कोई सरगना या आतंकवादी संगठन अपने साथियों के नंबर शेयर करके तो उन्हें फंसाना नहीं चाहेगा। मुंबई क्राइम ब्रांच ने शनिवार को वसई से एक संदिग्ध को हिरासत में लिया है। उससे पूछताछ चल रही है। वरली पुलिस स्टेशन में एफआईआर दर्ज की गई है और केस सीआईयू को ट्रांसफर किया जा रहा है।


क्या था धमकी भा मेसेज

मुंबई पुलिस कमिश्नर विवेक फणसलकर ने बताया कि मुंबई ट्रैफिक पुलिस के वॉट्सऐप हेल्पलाइन नंबर पर शुक्रवार रात करीब पौने बारह बजे धमकी भरे मैसेज आए। इनमें लिखा हुआ था कि मुंबई में 26/11 जैसा हमला करके शहर को उड़ा दिया जाएगा। इनमें 26/11 हमले में शामिल आतंकवादी अजमल कसाब और अल कायदा से जुड़े रहे अल जवाहिरी का भी जिक्र था।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.