Thursday, 18 August 2022

ठाणे में दही हांडी उत्सव के दौरान इस बार शिंदे बनाम उद्धव गुट, दिखेगा जबरदस्त शक्ति प्रदर्शन


महाराष्ट्र में हाल ही में एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) राज्य के नए मुख्यमंत्री बने हैं. तत्कालीन मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) से बगावत के बाद कई दिनों तक राज्य में सियासी ड्रामा चला. अहमदाबाद, गुवाहाटी और गोवा होते हुए आखिरकार मुंबई पहुंचकर इस सियासी ड्रामे का अंत हुआ, जिसमें उद्धव ठाकरे को इस्तीफा देना पड़ा और राज्य में महाविकास अघाड़ी की सरकार गिर गई. एकनाथ शिंदे के अगुवाई वाले शिवसेना गुट ने भाजपा के साथ मिलकर राज्य में सरकार बनाई. एकनाथ शिंदे को ठाणे का ठाकरे भी कहा जाता है और इस बार एकनाथ शिंदे के गृहक्षेत्र ठाणे में उनकी और उद्धव ठाकरे के गुट के बीच दही हांडी के बहाने शक्ति प्रदर्शन होगा.


शुक्रवार को कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर एकनाथ शिंदे के अगुवाई वाले शिवसेना गुट और उद्धव ठाकरे के अगुवाई वाले शिवसेना गुट की ओर से दही हांडी कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा. इन कार्यक्रमों में दोनों के समर्थक शक्ति प्रदर्शन के लिए तैयार दिख रहे हैं.


दोनों ही पक्षों के समर्थक दही हांडी के लिए ज्यादा से ज्यादा भीड़ जुटाने में जुटे हुए हैं. ज्ञात हो कि दही हांडी के तहत हवा में लटके दही या छाछ से भरे मिट्टी के बर्तन तक पहुंचने की कोशिश की जाती है. रंगबिरंगी पोशाक पहने गोविंदा इसके लिए मानव पिरामिड बनाते हैं. इस पिरामिड पर चढ़कर एक युवक मटकी फोड़ता है. 

इस साल शिंदे के समर्थक तेम्बी नाका में दही हांडी रख रहे हैं, जबकि ठाणे से सांसद राजन विचारे का प्रतिद्वंद्वी खेमा ठाणे शहर के जंबली नाका में करीब 200 मीटर दूर इसी तरह का कार्यक्रम आयोजित कर रहा है. दोनों पक्ष शिवसेना के संस्थापक बालासाहेब ठाकरे और दिवंगत नेता आनंद दिघे के नाम पर कार्यक्रम आयोजित कर रहे हैं, जिन्हें शिंदे अपना गुरू मानते हैं.


कल्याण से सांसद श्रीकांत शिंदे मुख्यमंत्री के बेटे हैं. उन्होंने और ठाणे के पूर्व महापौर नरेश म्हस्के ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा कि उनकी हांडी सम्मान को दर्शाती है. दूसरी ओर, विचारे ने कहा कि उनकी हांडी वफादारी, एकता, संस्कृति और हिंदुत्व की आवाज को दर्शाती है. उत्सव के सुचारू संचालन के लिए शहर की पुलिस ने व्यापक बंदोबस्त किए हैं.


श्रीकांत शिंदे और म्हास्के ने कहा कि ठाणे और मुंबई में होने वाले आयोजन की विजेता टीम को 2.51 लाख रुपये मिलेंगे. सांसद ने यह भी कहा कि वह दही हांडी को साहसिक खेल श्रेणी में शामिल कराने के लिए प्रयास करेंगे. विचारे ने कहा कि विजेता टीम को उनके कार्यक्रम में 1.11 लाख रुपये का पुरस्कार मिलेगा. उन्होंने कहा कि सुरक्षा रस्सियों की व्यवस्था की जाएगी, डॉक्टर मौके पर तैयार रहेंगे. उन्होंने यह भी कहा कि प्रतिभागियों के अलावा दर्शकों का भी बीमा किया जाएगा.


स्थानीय संस्था स्वामी प्रतिष्ठान एक और दही हांडी का आयोजन कर रहा है, जिसकी कुल पुरस्कार राशि 51 लाख रुपये है, जिसमें विजेता टीम के लिए 11 लाख रुपये शामिल हैं. महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने अपने द्वारा आयोजित दही हांडी कार्यक्रम के लिए कुल 55 लाख रुपये की पुरस्कार राशि की घोषणा की है और विजेता टीम को स्पेन जाने का भी मौका मिल सकता है. ठाणे से शिवसेना विधायक प्रताप सरनाइक के एक संगठन द्वारा आयोजित किए जाने वाले एक और दही हांडी कार्यक्रम में कुल 21 लाख रुपये की पुरस्कार राशि है.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.