Thursday, 18 August 2022

शिंदे सरकार का एक और बड़ा फैसला, आदित्य ठाकरे के चहते अधिकारियों की दूसरी बार हुई बदली


नई सरकार के अस्तित्व में आते ही अधिकारियों की ट्रांसफर और पोस्टिंग तेज हो गई है. शिंदे-फडणवीस सरकार द्वारा आदित्य ठाकरे के पसंदीदा कई अधिकारियों की बदली की गई है. एक से डेढ़ महीने पहले नियुक्त किए गए सहायक आयुक्त की बदली के बाद अब और पांच सहायक आयुक्तों की आनन-फानन में बदली का आदेश दिया गया है. आदित्य ठाकरे के बेहद करीबी समझे जाने वाले सहायक आयुक्त किरण दिघावकर को दूसरी बार और मृदुला अंडे को तीसरी बार ट्रांसफर किया गया है.


पिछले दो महीनों में मुंबई महानगरपालिका के अधिकारियों की धड़ाधड़ बदली से पालिका में अफरातफरी देखी जा रही है. इससे मुंबईकरों की समस्याओं के निपटारे में महापालिका द्वारा लापरवाही की मिसालें सामने आ रही हैं.


दो महीने में दो बार ट्रांसफर, राजनीतिक मार झेल रहे अफसर

कोविड काल में जीरो केस तक मामला पहुंचा कर धारावी मॉडल को दुनिया भर में मशहूर करने वाले सहायक आयुक्त किरण दिघावकर को दो महीने पहले (4 जुलाई) जी नॉर्थ वार्ड से भायखला के ई वार्ड में ट्रांसफर कर दिया गया था. अब एक बार फिर उनका ट्रांसफर पी उत्तर विभाग मालाड में किया गया है. दो महीने पहले ट्रांसफर की गई उपायुक्त चंदा जाधव की भी बदली जोन 1 से घनकचरा व्यवस्थापन विभाग में की गई है.


परेल के एफ दक्षिण वार्ड के सहायक आयुक्त स्वप्ना क्षीरसागर की कोलाबा ए विभाग के सहायक आयुक्त पद पर तो मालाड पी उत्तर वार्ड के सहायक आयुक्त महेश पाटील की परल एफ दक्षिण वार्ड के सहायक आयुक्त पद पर ट्रांसफर किया गया है. इसी तरह अजय कुमार यादव, कार्यकारी अभियंता (परिवहन) को सहायक आयुक्त ई वार्ड की अतिरिक्त जिम्मेदारियां दी गई हैं. चेंबूर एम पश्चिम वार्ड की सहायक आयुक्त मृदुला अंडे की सहायक आयुक्त (अतिक्रमण निर्मूलन-शहर, पूर्व और पश्चिमी उपनगर) के पद पर नियुक्ति की गई है. अंडे की यह तीसरी बार बदली की गई है. इससे पहले वे घाटकोपर एन वार्ड में सहायक आयुक्त पद पर कार्यरत थीं. इससे पहले बोरिवली आर उत्तर वार्ड में काम करते वक्त उनका घाटकोपर ट्रांसफर कर दिया गया था.


किन अधिकारियों का प्रमोशन और किनका हुआ डिमोशन?

मुंबई महानगरपालिका के वरिष्ठ उपायुक्त विजय बालमवर को सह आयुक्त के तौर पर प्रोमोट किया गया है. हालांकि बालमवार के हाथों में अब तक किसी विभाग की जिम्मेदारी नहीं दी गई है. उनके व्यापक अनुभव को देखते हुए उन पर कोई बड़ी जिम्मेदारी दिए जाने की बात कही जा रही है. घनकचरा व्यवस्थापन विभाग की उपायुक्त डॉ. संगीता हसनाले की वर्तमान जिम्मेदारियों को लेकर उन्हें परिमंडल एक की उपायुक्त नियुक्त किया गया है. इस विभाग की उपायुक्त चंदा जाधव को घनकचरा व्यवस्थापन की जिम्मेदारी दी गई है.

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.