Thursday, 18 August 2022

क्या खतरे में है वनडे क्रिकेट का वजूद ? हिटमैन रोहित शर्मा ने दिया ये जवाब

मुंबई: पिछले कुछ महीनो से पूरी दुनिया के क्रिकेट गलियारों में वनडे क्रिकेट के वजूद को लेकर बहस चल रही है। इंग्लैंड की साल 2019 में विश्व विजय में अहम भूमिका निभाने वाले बेन स्टोक्स ने वनडे क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया। इसके बाद ये बहस और तेज हो गई। 


तीनों फॉर्मेट हैं अहम 

आलोचकों का मानना है कि टी20 क्रिकेट की लोकप्रियता बढ़ने के बाद वनडे क्रिकेट का चार्म खत्म हो रहा है। व्यस्त शेडयूल को देखते हुए कुछ लोगों का मानना है कि वनडे क्रिकेट को खत्म कर देना चाहिए। इस बात का समर्थन वसीम अकरम, आकाश चोपड़ा और रवि शास्त्री ने भी किया है। लेकिन टीम इंडिया के कप्तान रोहित शर्मा की राय इन सबसे अलग है। उनका मानना है कि क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट अहम हैं।


वनडे क्रिकेट की वजह से बना है मेरा नाम

35 वर्षीय रोहित शर्मा को वनडे क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक माना जाता है। रोहित ने वनडे क्रिकेट के वजूद को लेकर कहा, रोहित शर्मा क्या था और आज क्या है वो वनडे क्रिकेट की वजह से ही है। वनडे क्रिकेट की अहमियत हमेशा थी और आगे भी बनी रहेगी। रोहित ने वनडे क्रिकेट के भविष्य के बारे में कहा, 'मेरा नाम ही वनडे क्रिकेट की वजह से बना है। सब बेकार की बातें हैं।'


कोई भी फॉर्मेट हो, मेरे लिए क्रिकेट खेलना है अहम

उन्होंने आगे कहा, पहले लोग टेस्ट क्रिकेट के बारे में ऐसी बातें कर रहे थे। मेरे लिए क्रिकेट अहम है-भले ही कोई सा भी फॉर्मेट हो। मैं ऐसा कभी नहीं कहूंगा कि वनडे क्रिकेट खत्म हो रहा है, टी20 खत्म हो रहा है या टेस्ट क्रिकेट खत्म होने के कगार पर है। मैं चाहता हूं कि खेल का एक और फॉर्मेट हो क्योंकि मेरे लिए क्रिकेट खेलना सबसे अहम है।


रोहित ने आगे रहा, 'बचपन से मैंने भारत के लिए क्रिकेट खेलने का सपना देखा है। हम जब भी वनडे क्रिकेट खेलते हैं स्टेडियम खचा-खच भरे होते हैं। लोगों का उत्साह चरम पर होता है। ये एक व्यक्तिगत पसंद है कि लोग कौन सा फॉर्मेट खेलना चाहते हैं और कौन सा नहीं। तीनों ही फॉर्मेट अहम हैं।  


वनडे क्रिकेट में रोहित ने जड़े हैं तीन दोहरे शतक 

रोहित शर्मा वनडे क्रिकेट में 9 हजार से ज्यादा रन बना चुके हैं। उनके नाम इस फॉर्मेट में तीन दोहरे शतक दर्ज हैं। वनडे क्रिकेट इतिहास का सबसे बड़े व्यक्तिगत स्कोर का रिकॉर्ड भी उनके ही नाम दर्ज है। उन्होंने साल 2019 के विश्व कप के दौरान पांच शतक जड़ने का कारनामा भी कर दिखाया था। ऐसे में रोहित का वनडे क्रिकेट से अलग ही लगाव है। 

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.