Tuesday, 16 August 2022

बॉयफ्रेंड ने गर्लफ्रेंड को मैसेज में लिखा बम! संदिग्ध समझकर होने लगी पूछताछ, छह घंटे लेट हुई इंडिगो की फ्लाइट

मेंगलुरु (कर्नाटक): मेंगलुरु से मुंबई जाने वाली फ्लाईट उस वक्त रोक दी गयी जब एक महिला ने विमान के स्टाफ को यह जानकारी दी कि फ्लाइट में चढ़ा एक व्यक्ति किसी से 'बम' को लेकर बातचीत कर रहा है। फ्लाइट स्टाफ को जब यह सूचना मिली तो उन्होंने पूरी सावधानी अपनाते हुए सभी यात्रियों को प्लेन से उतार दिया और सभी के सामानों की फिर से बड़े स्तर पर चैकिंग की गयी। महिला ने जानकारी दी थी कि उसके बगल में बैठा एक शख्स किसी से बम को लेकर चेटिंग कर रहा था। उसने अपना मोबाइल कुछ छण के लिए नीचे रखा तभी महिला की नजर मोबाइल पर पड़ गयी और उसने देखा कि किसी ने उसे बम लिखकर भेजा हैं। महिला को यह बात खटकने लगी और उसने अपना संदेह व्यक्त करते हुए फ्लाइट स्टाफ को इसकी जानकारी दी, जिसके बाद उस व्यक्ति को रोल लिया गया और उससे पूछताछ की गयी। पुलिस की पूछताछ में पता चला कि वह अपनी गर्लफ्रेंड से मोबाइल पर मेसेज भेजकर बातचीत कर रहा था, जिसे उसी हवाई अड्डे से बेंगलुरु के लिए फ्लाइट लेनी थी।


गर्लफ्रेंड से चैट ने छह घंटे लेट कराई इंडिगो की फ्लाइट

मेंगलुरु से मुंबई जाने वाले विमान को उड़ान भरने में उस समय छह घंटे की देरी हुई जब एक महिला यात्री ने उसके साथ यात्रा कर रहे एक व्यक्ति के मोबाइल फोन पर संदिग्ध संदेश आने के बारे में जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि सभी यात्रियों को विमान से उतरने के लिए कहा गया और उनके सामान की व्यापक रूप से तलाशी ली गयी। इसके बाद ही इंडिगो के विमान को रविवार शाम को मुंबई के लिए उड़ान भरने की अनुमति दी गई। एक महिला यात्री ने विमान में सवार एक व्यक्ति के मोबाइल फोन पर एक संदेश देखा और विमान के चालक दल को इसकी जानकारी दी।


चालक दल ने हवाई यातायात नियंत्रक को इसकी सूचना दी और उड़ान भरने के लिए तैयार विमान को रोकना पड़ा। बताया जाता है कि यह व्यक्ति अपनी प्रेमिका से मोबाइल पर संदेश भेजकर बातचीत कर रहा था, जिसे उसी हवाईअड्डे से बेंगलुरु के लिए उड़ान भरनी थी। इस व्यक्ति को पूछताछ के कारण विमान में सवार होने नहीं दिया गया। पूछताछ कई घंटों तक चली जबकि उसकी प्रेमिका की बेंगलुरु की उड़ान छूट गयी। बाद में सभी 185 यात्री मुंबई जाने वाले विमान में फिर से सवार हुए और शाम पांच बजे विमान ने उड़ान भरी। शहर के पुलिस आयुक्त एन. शशि कुमार ने कहा कि देर रात तक कोई शिकायत दर्ज नहीं की गयी क्योंकि यह दो दोस्तों के बीच सुरक्षा को लेकर मैत्रीपूर्ण ढंग से हो रही बातचीत थी।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.