Tuesday, 30 August 2022

Maharashtra : मुंबई में विराजे 'लालबाग के राजा', सोमवार रात हुआ अनावरण, कल से गणेशोत्सव की धूम


बुधवार से देश में गणेशोत्सव शुरू हो रहा है। बीते दो सालों में कोरोना महामारी के चलते इस उत्सव के प्रति उत्साह कम नजर आया, लेकिन इस बार यह बड़े पैमाने पर मनाया जा रहा है। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में 'लालबागचा राजा' की प्रतिमा विराजित कर दी गई है। सोमवार रात प्रतिमा का अनावरण किया गया। 


मुंबई में गणेशोत्सव के दौरान हर साल लालबाग के राजा के रूप में भगवान गणेश की विशाल व सुंदर प्रतिमा स्थापित की जाती है। इस बार भी भव्य प्रतिमा विराजित की गई है। 'लालबाग के राजा' दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं। इनके दर्शन के लिए महाराष्ट्र के कई शीर्ष नेता व अभिनेता पहुंचते हैं। प्रतिमा की पूजा अर्चना और उत्सव की धूम बुधवार से शुरू हो  जाएगी। महाराष्ट्र में गणेशोत्सव पर्व बड़े पैमाने पर मनाया जाता है। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक के आह्वान पर आजादी के आंदोलन को आगे बढ़ाने के लिए इसे विस्तार दिया गया था। 


12 फीट की प्रतिमा, शाही मुद्रा में नजर आ रहे भगवान गणेश

'लालबागचा राजा सार्वजनिक गणेशोत्सव मंडल' इस बार हमेशा की तरह बड़े पैमाने पर कार्यक्रम आयोजित करने का फैसला किया है। मंडल की ओर से सोमवार को इस साल की प्रतिमा के प्रथम दर्शन कराए गए। इस बार लालबाग के राजा की 12 फीट की विशाल प्रतिमा बनाई गई है। इसमें भगवान गणेश  सिंहासन पर शाही मुद्रा में बैठे नजर आ रहे हैं।


अयोध्या के राम मंदिर की थीम

लालबागचा राजा सार्वजनिक गणेशोत्सव मंडल ने इस वर्ष भव्य उत्सव समारोह के लिए विस्तृत व्यवस्था की है। दर्शन के लिए मुंबई समेत देशभर से लाखों भक्त पहुंचते हैं। गणेशोत्सव के दौराना रोजाना आरती व पूजन होता है। इस बार लालबाग के राजा के सिंहासन की थीम अयोध्या का राम मंदिर रखा है।


आर्टिस्ट नितिन चंद्रकांत देसाई ने बप्पा के पांडाल की सजावट की है। मंडल के अध्यक्ष बाला कांबले ने बताया कि सभी को आसानी से दर्शन हो सकें, इसके खास प्रबंध किए गए हैं। 


Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.